Latest SSC jobs   »   पार्टनरशिप(साझेदारी) के नोट्स : इसके प्रकार,...

पार्टनरशिप(साझेदारी) के नोट्स : इसके प्रकार, सूत्र और उदाहरण

साझेदारी एक ऐसी चीज है, जिसमें दो या दो से अधिक लोगों के बीच एक औपचारिक समझौता किया जाता है और सह-मालिक बनने के लिए सहमत होते हैं, एक संगठन चलाने के लिए जिम्मेदारियों को वितरित किया जाता है, तथा उस व्यवसाय में हुए लाभ या हानि को साझा करते हैं। सरकारी भर्ती परीक्षा में, साझेदारी से संबंधित कई प्रश्न पूछे जाते हैं। प्रश्नों को हल करते समय, आप उत्तर पाने के लिए अप्लाई होने वाले सही सूत्र और ट्रिक्स पर भ्रमित हो सकते हैं। इस पोस्ट में, हम उदाहरणों के साथ साझेदारी से संबंधित महत्वपूर्ण सूत्रों पर चर्चा करने जा रहे हैं। यह स्टडी नोट्स आपको इस विषय से संबंधित प्रश्नों को आसानी से हल करने में मदद करेगा।

पार्टनरशिप या साझेदारी क्या है?

जब भी दो या दो से अधिक व्यक्ति, लाभ प्राप्त करने के लिए एक ही उद्देश्य के साथ हाथ मिलाते हैं। तो प्रत्येक सदस्य समय या नकदी का योगदान करता है, जिससे संगठन को लाभ मिल सके।
जो पार्टनर, केवल पैसे का निवेश करता है उसे निष्क्रिय साझीदार कहा जाता है वहीं ऐसा पार्टनर जो पैसे का निवेश करता है साथ ही बिजनेस को भी मैनेज करता है उसे सक्रीय साझीदार कहा जाता है। साझेदारी से जुड़े कुछ अन्य महत्वपूर्ण बिंदु नीचे दिए गए हैं।

पार्टनरशिप या साझेदारी के प्रकार:

साधारण और मिश्रित साझेदारी के रूप में दो प्रकार की साझेदारियां हैं। दोनों प्रकार की साझेदारी का विवरण नीचे दिया गया है।

  • साधारण साझेदारी:

इस तरह की साझेदारी में, सभी निवेशकों द्वारा समान समय अवधि के लिए संसाधनों यानी पूंजी (या अन्य संसाधन)का निवेश किया जाता है सबकी पूंजी उस अवधि में व्यवसाय में रहता है। इस तरह की साझेदारी में, लाभ उनके योगदान की गयी पूंजी के अनुपात में वितरित किया जाता है।

सूत्र

यदि P और Q क्रमशः व्यवसाय में एक वर्ष के लिए a और b रुपये का योगदान करते हैं। तो उस समय उनकी लाभ या हानि होगी:

P का लाभ (या हानि): Q का लाभ (या हानि) = a : b

  • मिश्रित साझेदारी

चक्रवृद्धि साझेदारी में, पैसा अलग-अलग निवेशकों द्वारा अलग-अलग समय के लिए निवेश किया जाता है। इसमें, लाभ अंश, निवेश की गई पूंजी और समय (आमतौर पर महीनों) के गुणनखंड के अनुपात से निकाला जाता है।

सूत्र

P1 : P2 = C1 × T1 : C2 × T2

  • P1 =पहले साझीदार का लाभ
  • C1 = पहले साझीदार की पूंजी
  • T1 = पहले साझीदार द्वारा निवेश की गयी राशि की समय अवधि
  • P2 = दूसरे साझीदार का लाभ
  • C2 = दूसरे साझीदार की पूंजी
  • T2 = दूसरे साझीदार द्वारा निवेश की गयी राशि की समय अवधि

महत्वपूर्ण सूत्र:

1. जब सभी भागीदारों के निवेश समान समय के लिए होते हैं, तो भागीदारों के बीच लाभ या हानि का वितरण, उनके निवेश के अनुपात में की जाती है।
उदाहरण के लिए, A और B एक व्यवसाय में एक वर्ष के लिए क्रमशः x और y रुपये का निवेश करते हैं। तो वर्ष के अंत में:
(A के लाभ का अंश) : (B के लाभ का अंश) = x : y.
2.जब निवेश अलग-अलग समय अवधि के लिए होते हैं, तो समतुल्य पूंजियों की गणना एक समय इकाई के लिए की जाती है (इकाई समय के लिए पूँजी x)। अब लाभ या हानि इन पूंजियों के अनुपात में विभाजित होते हैं।
मान लीजिए कि A, x रु. p महीने के लिए तथा B, y रु., q महीने के लिए निवेश करता है। तो,
(A के लाभ का अंश) : (B के लाभ का अंश)= xp : yq.

प्रश्न:

1. तीन साझीदार ने 5: 7: 8 के अनुपात में एक व्यवसाय में लाभ साझा किया। उन्होंने क्रमशः 14 महीने, 8 महीने और 7 महीने के लिए साझेदारी की थी। तो उनके द्वारा निवेश की गयी पूंजी का अनुपात क्या होगा?

A. 5 : 7 : 8
B. 20 : 49 : 64
C. 38 : 28 : 21
D. इनमें से कोई नहीं
Ans. (B)
व्याख्या:
माना उनके निवेश 14 माह के लिए x रु., 8 माह के लिए yरु. और 7 माह के लिए z रु. है।
तो, 14x : 8y : 7z = 5 : 7 : 8.
अब, 14x/8y = 5/7 => 98x = 40y => y = 49/20 x
और, 14x/7z = 5/8 => 112x = 35z => z = 112/35 x = 16/5 .x.
अतः x : y : z = x : 49/20 x : 16/5 x = 20 : 49 : 64.
2. P, Q, R एक साझेदारी करते हैं और उनका हिस्सा 1/2: 1/3: 1/4 के अनुपात में है, दो महीने के बाद, P पूंजी का आधा हिस्सा निकाल लेता है और 10 महीने के बाद, 378 रुपये का लाभ सबमें विभाजित किया जाता है तो इसमें से Q का हिस्सा कितना होगा?
A. 114
B. 120
C. 134
D. 144
Ans. (D)
Explanation :
The ratio of their initial investment = 1/2 : 1/3 : 1/4
= 6 : 4: 3
Let’s take the initial investment of P, Q and R as 6x, 4x and 3x respectively
A:B:C = (6x * 2 + 3x * 10) : 4x*12 : 3x*12
= (12+30) : 4*12 : 3*12
=(4+10) : 4*4 : 12
= 14 : 16 : 12
= 7 : 8 : 6
B’s share = 378 * (8/21) = 18 * 8 = 144
3. A, B, C एक व्यवसाय के लिए 50,000 रु. का योगदान करते हैं। A, B से 4000 रु. अधिक तथा B, C से 5000 रु.अधिक राशि का योगदान करता है। तो 35,000, रु. के कुल लाभ में A को कितनी राशि प्राप्त होगी?
A. Rs. 8400
B. Rs. 11,900
C. Rs. 13,600
D. Rs. 14,700
Ans (D)
Explanation:
Let C = x.
Then, B = x + 5000 and A = x + 5000 + 4000 = x + 9000.
So, x + x + 5000 + x + 9000 = 50000
=> 3x = 36000
=> x = 12000
A : B : C = 21000 : 17000 : 12000 = 21 : 17 : 12.
So A’s share = Rs. (35000 x 21/50) = Rs. 14,700.
4. P, Q, R एक साझेदारी करते हैं। P शुरू में 25 लाख का निवेश करता है और एक वर्ष के बाद और 10 लाख निवेश करता है। Q शुरू में 35 लाख और 2 साल के बाद10 लाख की निकासी करता है तथा R, 30 लाख रुपए का निवेश करता है। तो 3 वर्षों के अंत में किस अनुपात में लाभ को विभाजित किया जाना चाहिए?
A. 18:19:19
B. 18:18:19
C. 19:19:18
D. 18:19:19
Ans (C)
Explanation :
P:Q:R = (25*1+35*2) : (35*2 : 25*1) : (30*3)
= 95 : 95 : 90
= 19 : 19: 18
5. A और B ने क्रमशः 20,000 और 15,000 रुपये का निवेश करके एक व्यवसाय शुरू किया। छह महीने के बाद, C 20,000 रुपये के साथ उनके साथ जुड़ा। तो व्यवसाय की प्रारंभ से 2 साल के अंत में 25,000 रु. के कुल लाभ में B का हिस्सा कितना होगा?
A. Rs. 7500
B. Rs. 9000
C. Rs. 9500
D. Rs. 10,000
Ans (A)
Explanation:
A : B : C = (20,000 x 24) : (15,000 x 24) : (20,000 x 18) = 4 : 3 : 3.
So B’s share = Rs. (25000 x 3/10) = Rs. 7,500.
6. एक व्यवसाय में, A और C ने 2: 1 के अनुपात में राशि का निवेश किया, जबकि A और B द्वारा निवेश की गई राशियों के बीच का अनुपात 3: 2 था। यदि उनका कुल लाभ 157300 रुपये था, तो B को कितनी राशि प्राप्त हुई?
A. 48000
B. 48200
C. 48400
D. 48600
Ans (C)
Explanation :
Assume that investment of C = x
Then, investment of A =2x
Investment of B = 4x/3
A:B:C = 2x : 4x/3 : x = 2 : 4/3 : 1 =6 : 4 : 3
B’s share = 157300 * 4/(6+4+3) = 157300*4/13
= 12100*4 = 48400
7. A, B, C एक चारागाह किराए पर लेते हैं। A, 7 महीने के लिए 10 बैलों को रखता है; B, 5 महीनों के लिए 12 बैलों को रखता है और C, 3 महीने के लिए 15 बैलों को रखता है। यदि चारागाह का किराया 175 रु. है, तो C को किराए में अपने हिस्से के रूप में कितना भुगतान करना होगा?
A. Rs. 45
B. Rs. 50
C. Rs. 55
D. Rs. 60
Ans (A)
Explanation:
A : B : C = (10 x 7) : (12 x 5) : (15 x 3) = 70 : 60 : 45 = 14 : 12 : 9.
C’s rent = Rs.(175 x 9/35) = Rs. 45.
8. यदि 4 (P की पूंजी) = 6 (Q की पूंजी) = 10 (R की पूंजी) है, तो 4650 रुपये के कुल लाभ में से, R को कितनी राशि प्राप्त होगी?
A. 600
B. 700
C. 800
D. 900
Ans (D)
Explanation :
Let P’s capital = p, Q’s capital = q and R’s capital = r
Then
4p = 6q = 10r
=> 2p = 3q = 5r
=>q = 2p/3
r = 2p/5
P : Q : R = p : 2p/3 : 2p/5
= 15 : 10 : 6
R’s share = 4650 * (6/31) = 150*6 = 900
9. तीन साझेदार A, B, C एक व्यवसाय शुरू करते हैं। B की पूँजी, C की पूँजी का चार गुनी है; और A की पूँजी, B की पूँजी के तीन गुनी के बराबर है। यदि एक वर्ष के अंत में कुल लाभ 16500 रुपये होता है, तो इसमें B का हिस्सा ज्ञात कीजिए।
A. 4000
B. 5000
C. 6000
D. 7000
Ans (C)
Explanation :
Suppose C’s capital = x then
B’s capital = 4x (Since B’s Capital is four times C’s capital)
A’s capital = 6x ( Since twice A’s capital is equal to thrice B’s capital)
A:B:C =6 x : 4x : x
= 6 : 4 : 1
B’s share = 16500 * (4/11) = 1500*4 = 6000
10. P और Q ने एक व्यवसाय में निवेश किए थे। अर्जित लाभ को 2: 3 के अनुपात में विभाजित किया जाता है। यदि P ने 40000 रुपये का निवेश किया था, तो Q द्वारा निवेश की गई राशि कितनी है?
A. 40000
B. 50000
C. 60000
D. 70000
Ans (C)
Explanation :
Let the amount invested by Q = q
40000 : q = 2 : 3
=> 40000/q = 2/3
=> q = 40000 * (3/2) = 60000

Sharing is caring!

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *