Latest SSC jobs   »   विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस : जानिए...

विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस : जानिए क्या हैं इसका इतिहास और महत्व

World Nature Conservation Day : विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस प्राकृतिक संसाधनों की रक्षा के लिए सर्वोत्तम प्रथाओं के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मनाया जाता है क्योंकि हमारी पृथ्वी में पानी, पेड़, मिट्टी आदि जैसी चीजें असीमित मात्रा में नहीं हैं। 28 जुलाई को प्राकृतिक संसाधन संरक्षण, हमारे जीवन में प्रकृति का महत्व और इसके संरक्षण की आवश्यकता के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए यह दिवस मनाया जाता है।वनों की कटाई और अवैध वन्यजीव व्यापार जैसी समस्याओं के दिन-प्रतिदिन बढ़ने के साथ, प्रकृति संरक्षण बहुत सारे देशों की प्राथमिकताओं की सूची में महत्वपूर्ण हो गया है। सरकार ने इसे एक समस्या के रूप में पहचाना है और इसे बदलने की पहल की जाती रहती है।

विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस का महत्व

दुनिया की हर गतिविधि प्रकृति पर निर्भर करती है इसलिए लोगों को यह समझना चाहिए कि वे जो भी गतिविधि करते हैं वह पृथ्वी को प्रभावित करेगी। प्रकृति का संरक्षण सभी मनुष्यों और पृथ्वी पर उनके जीवन के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है। पृथ्वी से हमें पानी, हवा, पेड़, जानवर, भोजन, मिट्टी, खनिज आदि जैसे जीवन की आवश्यक आवश्यकता पूरी होती है, इसलिए लोगों का कर्तव्य है कि वे पर्यावरण को सुरक्षित और स्वच्छ रखें। आज के समय में प्रकृति के लिए बहुत सारे खतरे हैं, जैसे वनों की कटाई, वन्यजीवों में अवैध व्यापार, प्रदूषण, प्लास्टिक का उपयोग, रसायन, औद्योगिक विकास और कई अन्य कारक। इसलिए, प्रकृति की रक्षा करना और वर्तमान और आने वाली पीढ़ियों के लिए एक स्वस्थ वातावरण बनाने के लिए इसके प्रति जागरूकता फैलाना और इस दिवस को मनाना प्रासंगिक हैं।

विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस का इतिहास

विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस का इतिहास और शुरुआत के बारे में ठीक-ठीक जानकारी नहीं मिलती है लेकिन 28 जुलाई को इसे मनाने का मुख्य उद्देश्य एक साथ आना और प्रकृति को सपोर्ट करना है, इसका दोहन नहीं करना है। प्रकृति का संरक्षण प्राकृतिक संसाधनों का बुद्धिमानी केर साथ प्रबंधन और उपयोग है। प्राकृतिक असंतुलन के कारण हम ग्लोबल वार्मिंग, विभिन्न बीमारियों, प्राकृतिक आपदाओं, तापमान में वृद्धि आदि जैसी कई समस्याओं का सामना कर रहे हैं। साथ ही अगली पीढ़ी के लिए प्रकृति को संरक्षित करना आवश्यक है। इसलिए, संसाधनों को बचाने के महत्व को समझने, इसे रीसायकल करने, इसे संरक्षित करने और इसे नुकसान पहुंचाने के परिणामों को समझने के लिए दुनिया भर के लोगों में जागरूकता बढ़ाना महत्वपूर्ण है।

पर्यावरण संरक्षण के लिए क्या करें?

इस एक तथ्य हैं कि प्राकृतिक संसाधन सीमित हैं, और इसके निर्माण में लाखों साल लगते हैं, मानव अपने अंतहीन उपभोग और आराम के लिए उनका शोषण कर रहा है। मानव प्राकृतिक संसाधनों के लिए खतरा बन गया है क्योंकि प्राकृतिक संसाधनों में मानवीय हस्तक्षेप दिन-प्रति-दिन बढ़ रहा है। इसलिए, संसाधनों को बचाना बहुत महत्वपूर्ण है और प्रकृति के संरक्षण के लिए कुछ कदम नीचे सूचीबद्ध हैं:

  • ऊर्जा की वैकल्पिक स्रोतों जैसे सौर और पवन ऊर्जा का उपयोग
  • पारिस्थितिकी तंत्र को बनाए रखने और मिट्टी के कटाव को रोकने के लिए अधिक से अधिक पेड़ लगाना
  • जल संसाधनों का उचित तरीके से उपयोग करें और बगीचों में पानी भरने के लिए रसोई के पानी का पुन: उपयोग करें।
  • जलग्रहण क्षेत्रों में वनस्पति उगाएं।
  • बिजली का उपयोग कम करें।
  • रिसाइकिल करने योग्य और बायोडिग्रेडेबल उत्पादों का उपयोग करें
  • कचरे का रिसाइकिलिंग सुनिश्चित करें।
  • कम दूरी के लिए कारों का उपयोग कम से कम करने का प्रयास करें।
  • प्लास्टिक बैग की जगह पेपर बैग या कपड़े के बैग का इस्तेमाल करें।
  • जैविक खाद का उपयोग करके सब्जियां उगाएं।
  • जल उपचार संयंत्र और वर्षा जल संचयन स्थापित करें।

 

Sharing is caring!

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *