विश्व मौसम विज्ञान दिवस: 23मार्च ; थीम, इतिहास और इसका महत्त्व

1950 के बाद से, हर वर्ष, 23 मार्च को पूरे विश्व में विश्व मौसम विज्ञान दिवस मनाया जाता है। इसी दिन पर विश्व मौसम विज्ञान संगठन की स्थापना हुई थी। संगठन का लक्ष्य हर वर्ष इस दिन के लिए एक नारे की घोषणा करना है, जो अब दुनिया के सभी सदस्य देशों द्वारा मनाया जाता है। विश्व मौसम विज्ञान दिवस, राष्ट्रीय मौसम विज्ञान, साथ ही जल विज्ञान सेवाओं के योगदान को याद करता है, जो समाज की सुरक्षा और कल्याण के लिए कार्य करता है।
23 मार्च, 2020 को विश्व मौसम विज्ञान दिवस का विषय “Climate and Water” है, जो इस वर्ष के विश्व जल दिवस के साथ संरेखित होगी। इसके अतिरिक्त, यह जलवायु परिवर्तन और जल पर ध्यान केंद्रित करेगा। इसके अतिरिक्त, विश्व मौसम विज्ञान दिवस 2021 के लिए प्रस्तावित विषय “The Ocean, our climate and weather है।”
Check List Of Important Days & Dates Of The Year

इस दिन क्या होता है?

विश्व मौसम विज्ञान दिवस आमतौर पर सम्मेलनों और संगोष्ठियों से लेकर मौसम संबंधी पेशेवरों, समुदाय के नेताओं के साथ-साथ जनता के लिए विभिन्न प्रदर्शनियों में विभिन्न कार्यक्रम करता है। ये कार्यक्रम मीडिया के माध्यम से जलवायु से संबंधित मुद्दों की ओर ध्यान आकर्षित करने के उद्देश्य से भी आयोजित किए जाते हैं। इसके अतिरिक्त, इन कार्यक्रमों में मौसम संबंधी अनुसंधान के लिए कई पुरस्कारों का वितरण भी किया जाता है। ये पुरस्कार हैं:

  1. अंतरराष्ट्रीय मौसम विज्ञान संगठन पुरस्कार
  2. नॉर्बर्ट गेर्बियर-मम अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार 
  3. प्रोफेसर डॉ. विल्हो वैसाला पुरस्कार 

विश्व मौसम विज्ञान संगठन क्या है?

विश्व मौसम विज्ञान संगठन, या डब्लूएमओ(WMO), संयुक्त राष्ट्र (यूएन) की एक विशिष्ट एजेंसी है, जिसकी स्थापना वर्ष 1873 में की गई थी। 193 सदस्य राष्ट्रों और प्रदेशों के साथ, यह संगठन, राष्ट्रों पर संयुक्त राष्ट्र प्रणाली प्राधिकरण  और  भूमि और महासागर ,मौसम और जलवायु के पारस्परिक प्रभाव के साथ पृथ्वी के वातावरण की गतिविधि केआवाज के रूप में कार्य करता है। जो जल संसाधनों के वितरण के परिमाण को तैयार करता हैं।

पूरे वर्ष के विश्व मौसम विज्ञान दिवस के थीम पर एक नजर:- 

1961 से 1969 तक क्रमानुसार विश्व मौसम विज्ञान दिवस के थीम निम्नलिखित थे:

  1. Meteorology: general themes
  2. Contribution of meteorology to agriculture and food production
  3. Transport and meteorology (in particular, application of meteorology to aviation)
  4. Meteorology as a factor of economic development
  5. International cooperation in meteorology
  6. World weather watch
  7. Weather and water
  8. Meteorology and agriculture
  9. The economic value of meteorological services

1970 के दशक के थीम थे:

  1. Heteroglycan education and training
  2. Meteorology and human environment
  3. One hundred years of international cooperation in meteorology
  4. Meteorology and tourism
  5. Meteorology and telecommunications
  6. Weather and food
  7. Weather and water
  8. Meteorology and research for the future
  9. Meteorology and energy

1980 के दशक के थीम थे:

  1. Man and climatic variability
  2. World weather watch as a tool for development
  3. Observing the weather from space
  4. The weather observer
  5. Meteorology aids food production
  6. Meteorology and public safety
  7. Climate variations, drought and desertification
  8. Meteorology: a model of international cooperation
  9. Meteorology and the media
  10. Meteorology in the service of aviation

1980 के दशक के थीम थे:

  1. Natural disaster reduction: how meteorological and hydrological services can help
  2. The atmosphere of the living planet earth
  3. Weather and climate services for sustainable development
  4. Meteorology and the transfer of technology
  5. Observing the weather and climate
  6. Public weather services
  7. Meteorology in the service of sports
  8. Weather and water in cities
  9. Weather, oceans and human activity
  10. Weather, climate and health

 2000 से 2010 तक थीम थे:

  1. The world meteorological organization- 50 years of service
  2. Volunteers for the weather, climate and water
  3. Reducing vulnerability to weather and climate extremes
  4. Our future climate
  5. Weather, climate and water in the information age
  6. Weather, climate, water and sustainable development
  7. Preventing and mitigating natural disasters
  8. Polar meteorology: understanding the global impact
  9. Observing our planet for a better future
  10. 60 years of service for your safety

 2010 के बाद , विश्व मौसम दिवस के थीम है:

  1. Climate for you
  2. Powering our future with weather, climate and water
  3. Watching the weather to protect life and property: celebrating 50 years of world weather watch
  4. Weather and climate: engaging youth
  5. Climate knowledge for climate action
  6. Hotter, drier, wetter. Face the future
  7. Understanding clouds
  8. Weather-ready, climate-smart
  9. The sun, the earth and the weather

इस वर्ष की थीम जलवायु परिवर्तन का जल पर पड़ने पर प्रभावों पर केंद्रित रहेगी। यह सबको मालूम है कि स्वच्छ और ताजा पानी जीवन के लिए महत्वपूर्ण है। अध्ययनों से पता चलता है कि एक इंसान तीन दिनों से अधिक समय तक पानी के बिना जीवित नहीं रह सकता है। पानी न केवल हमारे जीवन के लिए आवश्यक है, बल्कि भोजन बनाने तथा पर्यावरण और अन्य कई कार्यों के लिए भी आवश्यक है।
Check List Of Important Days & Dates Of The Year
आज, दुनिया उन समस्याओं और चुनौतियों का सामना कर रही है, जो बाढ़, सूखा और साफ पानी की बुनियादी कमी से उत्पन्न होती हैं। इसलिए, पानी की आपूर्ति को बेहतर बनाने, इसका पूर्वानुमान लगाने, निगरानी करने के साथ-साथ पानी से संबंधित अन्य समस्याओं से निपटने की तत्काल आवश्यकता है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *