Latest SSC jobs   »   बाल श्रम के विरुद्ध विश्व दिवस

बाल श्रम के विरुद्ध विश्व दिवस

बाल श्रम एक आम समस्या है, जो आज दुनिया भर के लगभग सभी नागरिकों में दिखाई देती है। इसे ध्यान में रखते हुए, बाल श्रम के खिलाफ जागरूकता फैलाने के लिए प्रत्येक वर्ष बाल श्रम के विरुद्ध विश्व दिवस मनाया जाता है।
किसी भी तरह के श्रमसाध्य काम में लिप्त बच्चे को देखने से ज्यादा कुछ भी क्रूर नहीं हो सकता है। संयुक्त राष्ट्र के अनुसार, दुनिया का हर 10 वां बच्चा बाल श्रम से पीड़ित है। ये बच्चे विभिन्न क्षेत्रों में काम करते हैं जैसे कि सफाई, चीर-फाड़, आतिथ्य, और यहां तक कि कभी-कभी कारखानों के सबसे खतरनाक वातावरण में भी ये काम करते हुए दिखाई पड़ते है।

 

Check List of Important Days in June Coronavirus Questions: Know Everything About Coronavirus

बाल श्रम की वैश्विक समस्या:

बच्चों को अक्सर काम करने के लिए भेजा जाता है जब परिवार आर्थिक तंगी का सामना कर रहा होता है और बच्चा पूरे परिवार के लिए आशा का एकमात्र स्रोत होता है। बेशक, कुछ ऐसे परिवार भी हैं, जहाँ माता-पिता काम करते हैं लेकिन बच्चे को कुछ अतिरिक्त आय प्राप्त करने के लिए काम पर भेजा जाता है।
यह अवधारणा ज्यादातर दुनिया के सबसे गरीब देशों जैसे कि उप-सहारा अफ्रीका और एशिया के क्षेत्र में देखी जाती है।

लेकिन फिर से इटली जैसे कुछ औद्योगिक देशों में बाल श्रम की प्रवृत्ति को भी देखा जा सकता है। ज्यादातर 16 साल से कम उम्र के बच्चे इस यूरोपीय देश में बाल श्रम के लिए मजबूर हैं।

महामारी कोविड-19 ने दुनिया को काफी मुश्किल में डाला है। यह बच्चों पर एक बड़ा प्रभाव डालने वाला है क्योंकि उनके पास मजबूत प्रतिरक्षा शक्ति नहीं है। इस तरह के खतरे के तहत बाल श्रम बच्चों को और भी अधिक जोखिम में डालने वाला है। लेकिन फिर से स्थिति ने कई लोगों पर आर्थिक दबाव भी डाला है और यह फिर से कई बच्चों को एक नाजुक उम्र में परिवार के लिए बाहर जाने और कमाने के लिए मजबूर करेगा।

Check List Of Important Days & Dates Of The Year What is PPE kit? Know all about Personal Protective Equipment

बाल श्रम के विरुद्ध विश्व दिवस:

वर्ष 2002 में अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन (ILO) ने बाल श्रम के खिलाफ विश्व दिवस की स्थापना की। बाल श्रम को रोकने के लिए जागरूकता फैलाने के लिए दुनिया भर में हर साल 12 जून को यह मनाया जाता है।

बच्चे, किसी भी राष्ट्र के निर्माता होते हैं और उचित शिक्षा और विकास के साथ, कोई देश निश्चित रूप से उच्च समृद्ध हो सकता है। लेकिन अक्सर बच्चे शिक्षा और यहां तक कि अच्छे स्वास्थ्य से वंचित होते हैं, मुख्यतः आर्थिक स्थितियों के कारण। यह न केवल बच्चे के जीवन और भविष्य को खतरे में डालता है, बल्कि देश के विकास और भविष्य को भी खतरे में डालता है।

इसलिए, यह दिन लोगों को बाल श्रम रोकने के लिए शिक्षित करने के लिए ही नहीं बल्कि बच्चों को पढ़ाई के लिए प्रोत्साहित करने के लिए भी महत्वपूर्ण है। यह महत्वपूर्ण है कि राष्ट्र के साथ-साथ लोगों को कुछ ऐसे कदम उठाने चाहिए जो कारखानों और अन्य स्थानों पर काम करने के स्थान पर बच्चों को स्कूलों में वापस जाने में मदद कर सकें।

Post Lockdown: Updated Exam Calendar For All Govt. Exams 13 Reasons Why You Should Prepare For The Govt. Exams

बाल श्रम के विरुद्ध विश्व दिवस 2021

2019 का थीम “बच्चे को विभिन्न क्षेत्रों के स्थान पर उनके सपनों को साकार करने के लिए काम करना चाहिए” था। थीम यह था कि बाल श्रम को रोकने और इसके लिए नीति बनाने के लिए राष्ट्रों और संगठनों को प्रोत्साहित किया जाय कि जिससे सभी वर्गों की बच्चों की जिन्दगी को शिक्षा से जोड़ने में मदद की जाय।

 
2021 यह संदेश दे रहा है कि कोविड-19 की महामारी की स्थिति के कारण बच्चों को अब पहले से कहीं अधिक बाल श्रम से बचाया जाना चाहिए। महामारी ने न केवल स्वास्थ्य के मामले में, बल्कि वित्त की दृष्टि से भी राष्ट्रों को प्रभावित किया है। इसकी सबसे अधिक मार, बच्चों पर पड़ता हैं, जिन्हें ऐसी स्थिति में पीड़ित होने की आवश्यकता होती है। वे बाल श्रम के लिए उजागर करने हुए परिवार के लिए रोटी कमाने के लिए जाते है।

बाल श्रम के विरुद्ध विश्व दिवस 2021 की थीम ‘Act Now: End Child Labour’ है। कोरोनोवायरस महामारी और वैश्विक संकट के बीच, रोजगार संकट का सामना कर रहे लोगों के कारण दुनिया भर में बाल श्रम में भारी वृद्धि हुई है। जैसा कि महामारी के बावजूद देश धीरे-धीरे नए सामान्य की ओर बढ़ रहे हैं, जागरूकता बढ़ाना और बाल श्रम को पूरी तरह से समाप्त करना महत्वपूर्ण है।

इस वर्ष ग्लोबल मार्च अगेंस्ट चाइल्ड लेबर ने कई अन्य संगठनों के साथ मिलकर महामारी को रोकने के प्रयास कर रहा है, जिसने बाल श्रम को प्रभावित किया है। इसके अलावा, इस वर्ष का उद्देश्य विश्व स्तर पर बाल श्रम के मामलों को धीरे-धीरे कम करने के तरीकों का पता लगाना और जागरूकता फैलाना है।

Sharing is caring!

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.
Was this page helpful?

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *