SC JE पेपर I और II का सिलेबस

SSC JE पेपर 1 परीक्षा की तारीखें जारी कर दी गई हैं और परीक्षा 27 से 30 अक्टूबर 2020 और 11 दिसंबर 2020 तक आयोजित होने वाली है। SSC JE 2020-21 की अधिसूचना 1 अक्टूबर 2020 को जारी की गई थी। SSC JE पेपर 1 के लिए उपस्थित होने वाले उम्मीदवार पेपर 1 और पेपर 2 की परीक्षा का विस्तृत SSC JE पाठ्यक्रम देखना चाहिए। उम्मीदवारों के लाभ के लिए सभी विषयों के पाठ्यक्रम नीचे प्रदान किया गया है।

SSC JE सिलेबस 2020

SSC JE परीक्षा की तैयारी के लिए, SSC JE सिलेबस 2020 की गहन समझ की आवश्यकता है। पाठ्यक्रम के बारे में विस्तार से जानने से पहले, उम्मीदवारों को परीक्षा के पैटर्न के साथ-साथ प्रश्नों की संख्या और कुल अंकों की जानकारी होनी चाहिए।

Check SSC JE Salary Structure & Job Profile

पेपर-I (वस्तुनिष्ठ प्रश्न)

Papers No. Of Questions Maximum Marks Duration & Timings
(i) General Intelligence & Reasoning 50 50 2 Hrs.
(ii) General Awareness 50 50
Part –A General Engineering (Civil & Structural) OR 100 100
Part-B General Engineering (Electrical) OR
Part-C General Engineering (Mechanical)
Total 200 200
पेपर- I में प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 0.25 अंक की निगेटिव मार्किंग होगी।

पेपर -II लिखित प्रारूप में आयोजित किया जाएगा।

Paper – II Marks Time
Part-A General Engineering (Civil & Structural) 300 2 Hrs.
OR
Part- B General Engineering (Electrical) 300 2 Hrs.
OR
Part-C General Engineering (Mechanical) 300 2 Hrs.

Click Here for SSC JE Detailed exam pattern

SSC JE सिलेबस:  पेपर-I

इंजीनियरिंग विषयों में प्रश्नों का मानक उन मान्यता प्राप्त संस्थान, बोर्ड या विश्वविद्यालय से डिप्लोमा ऑफ इंजीनियरिंग (सिविल / इलेक्ट्रिकल / मैकेनिकल) के स्तर का होगा, जो ऑल इंडिया बोर्ड ऑफ टेक्निकल एजुकेशन द्वारा मान्यता प्राप्त है। सभी प्रश्न SI मात्रक में सेट किए जाएंगे।

जनरल इंटेलिजेंस और रीज़निंग

जनरल इंटेलिजेंस के सिलेबस में शाब्दिक और अ-शाब्दिक दोनों प्रकार के प्रश्न शामिल होंगे। टेस्ट में निम्नलिखित प्रश्न शामिल हो सकते हैं:
  • analogies,
  • similarities,
  • differences,
  • space visualization,
  • problem-solving,
  • analysis,
  • judgement,
  • decision making,
  • visual memory,
  • discrimination,
  • observation,
  • relationship concepts,
  • arithmetical reasoning,
  • verbal and figure classification,
  • arithmetical number series etc.
  • इस परीक्षा में अमूर्त विचारों और प्रतीकों और उनके संबंधों, अंकगणितीय गणनाओं और अन्य विश्लेषणात्मक कार्यों से निपटने के उम्मीदवार की क्षमताओं का परीक्षण करने के लिए डिज़ाइन किए गए प्रश्न भी शामिल होंगे।

सामान्य जागरूकता: General Awareness

  • प्रश्नों का उद्देश्य उम्मीदवार को उसके/उसके समाज के परिवेश के बारे में सामान्य जागरूकता का परीक्षण करना होगा।
  • प्रश्नों को वर्तमान घटनाओं के ज्ञान का परीक्षण करने के लिए डिज़ाइन किया जाएगा, और
  • किसी भी शिक्षित व्यक्ति से अपेक्षा की जा सकती है कि वह उनके वैज्ञानिक पहलू को समझता हो।
  • इस टेस्ट में भारत और उसके पड़ोसी देशों से संबंधित प्रश्न भी शामिल होंगे, विशेष रूप से इतिहास, संस्कृति, भूगोल, आर्थिक दृश्य, सामान्य राजनीति और वैज्ञानिक अनुसंधान, आदि से संबंधित।
  • ये सवाल ऐसे होंगे कि उन्हें किसी विशेष अनुशासन के अध्ययन की आवश्यकता नहीं है।

सामान्य इंजीनियरिंग (सिविल, इलेक्ट्रिकल और मैकेनिकल):

भाग-A सिविल इंजीनियरिंग:

  • Building Materials,
  • Estimating,
  • Costing and Valuation,
  • Surveying,
  • Soil Mechanics,
  • Hydraulics,
  • Irrigation Engineering,
  • Transportation Engineering,
  • Environmental Engineering.
  • Structural Engineering: Theory of Structures, Concrete Technology, RCC Design, Steel Design.

भाग-B इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग:

  • Basic concepts,
  • Circuit law,
  • Magnetic Circuit,
  • AC Fundamentals,
  • Measurement and Measuring instruments,
  • Electrical Machines,
  • Fractional Kilowatt Motors and single phase induction Motors,
  • Synchronous Machines,
  • Generation,
  • Transmission and Distribution,
  • Estimation and Costing,
  • Utilization and Electrical Energy,
  • Basic Electronics.

भाग-C: मैकेनिकल इंजीनियरिंग :

  • Theory of Machines and Machine Design,
  • Engineering Mechanics and Strength of Materials,
  • Properties of Pure Substances,
  • 1st Law of Thermodynamics,
  • 2nd Law of Thermodynamics,
  • Air standard Cycles for IC Engines,
  • IC Engine Performance,
  • IC Engines Combustion,
  • IC Engine Cooling & Lubrication,
  • Rankine cycle of System,
  • Boilers,
  • Classification,
  • Specification,
  • Fitting & Accessories,
  • Air Compressors & their cycles,
  • Refrigeration cycles,
  • Principle of Refrigeration Plant,
  • Nozzles & Steam Turbines.
  • Properties & Classification of Fluids,
  • Fluid Statics,
  • Measurement of Fluid Pressure,
  • Fluid kinematics,
  • Dynamics of Ideal fluids,
  • Measurement of Flow rate,
  • basic principles,
  • Hydraulic Turbines,
  • Centrifugal Pumps,
  • Classification of steels.

SSC JE सिलेबस:  पेपर-II

पेपर- II का सिलेबस कुल 300 अंकों के लिखित प्रारूप में होगा। उम्मीदवारों को अपने परीक्षा समूह यानी सिविल, इलेक्ट्रिकल या मैकेनिकल के लिए उपस्थित होना होगा।

सिविल और स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग(भाग-A)

  • Civil Engineering :Building Materials : Physical and Chemical properties, classification, standard tests, uses and manufacture/quarrying of materials e.g. building stones, silicate based materials, cement (Portland), asbestos products, timber and wood based products, laminates, bituminous materials, paints, varnishes.
  • Estimating, Costing and Valuation: estimate, glossary of technical terms, analysis of rates, methods and unit of measurement, Items of work – earthwork, Brick work (Modular & Traditional bricks), RCC work, Shuttering, Timber work, Painting, Flooring, Plastering. Boundary wall, Brick building, Water Tank, Septic tank, Bar bending schedule, Centre line method, Mid-section formula, Trapezodial formula, Simpson’s rule. Cost estimate of Septic tank, flexible pavements, Tube well, isolates and combined footings, Steel Truss, Piles and pile-caps. Valuation – Value and cost, scrap value, salvage value, assessed value, sinking fund, depreciation and obsolescence, methods of valuation.
  • Surveying: Principles of surveying, measurement of distance, chain surveying, working of prismatic compass, compass traversing, bearings, local attraction, plane table surveying, theodolite traversing, adjustment of theodolite, Levelling, Definition of terms used in levelling, contouring, curvature and refraction corrections, temporary and permanent adjustments of dumpy level, methods of contouring, uses of contour map, tachometric survey, curve setting, earth work calculation, advanced surveying equipment.
  • Soil Mechanics: Origin of soil, phase diagram, Definitions-void ratio, porosity, degree of saturation, water content, specific gravity of soil grains, unit weights, density index and interrelationship of different parameters, Grain size distribution curves and their uses. Index properties of soils, Atterberg’s limits, ISI soil classification and plasticity chart. Permeability of soil, coefficient of permeability, determination of coefficient of permeability, Unconfined and confined aquifers, effective stress, quick sand, consolidation of soils, Principles of consolidation, degree of consolidation, pre-consolidation pressure, normally consolidated soil, e-log p curve, computation of ultimate settlement. Shear strength of soils, direct shear test, Vane shear test, Triaxial test. Soil compaction, Laboratory compaction test, Maximum dry density and optimum moisture content, earth pressure theories, active and passive earth pressures, Bearing capacity of soils, plate load test, standard penetration test.
  • Hydraulics: Fluid properties, hydrostatics, measurements of flow, Bernoulli’s theorem and its application, flow through pipes, flow in open channels, weirs, flumes, spillways, pumps and turbines.
  • Irrigation Engineering: Definition, necessity, benefits, effects of irrigation, types and methods of irrigation, Hydrology – Measurement of rainfall, run off coefficient, rain gauge, losses from precipitation – evaporation, infiltration, etc. Water requirement of crops, duty, delta and base period, Kharif and Rabi Crops, Command area, Time factor, Crop ratio, Overlap allowance, Irrigation efficiencies. Different type of canals, types of canal irrigation, loss of water in canals. Canal lining – types and advantages. Shallow and deep to wells, yield from a well. Weir and barrage, Failure of weirs and permeable foundation, Slit and Scour, Kennedy’s theory of critical velocity. Lacey’s theory of uniform flow. Definition of flood, causes and effects, methods of flood control, water logging, preventive measure. Land reclamation, Characteristics of affecting fertility of soils, purposes, methods, description of land and reclamation processes. Major irrigation projects in India.
  • Transportation Engineering: Highway Engineering – cross sectional elements, geometric design, types of pavements, pavement materials – aggregates and bitumen, different tests, Design of flexible and rigid pavements – Water Bound Macadam (WBM) and Wet Mix Macadam (WMM), Gravel Road, Bituminous construction, Rigid pavement joint, pavement maintenance, Highway drainage, Railway Engineering- Components of permanent way – sleepers, ballast, fixtures and fastening, track geometry, points and crossings, track junction, stations and yards. Traffic Engineering – Different traffic survey, speed-flow-density and their interrelationships, intersections and interchanges, traffic signals, traffic operation, traffic signs and markings, road safety.
  • Environmental Engineering: Quality of water, source of water supply, purification of water, distribution of water, need of sanitation, sewerage systems, circular sewer, oval sewer, sewer appurtenances, sewage treatments. Surface water drainage. Solid waste management – types, effects, engineered management system. Air pollution – pollutants, causes, effects, control. Noise pollution – cause, health effects, control.

स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग:

  • Theory of structures: Elasticity constants, types of beams – determinate and indeterminate, bending moment and shear force diagrams of simply supported, cantilever and over hanging beams. Moment of area and moment of inertia for rectangular & circular sections, bending moment and shear stress for tee, channel and compound sections, chimneys, dams and retaining walls, eccentric loads, slope deflection of simply supported and cantilever beams, critical load and columns, Torsion of circular section.
  • Concrete Technology: Properties, Advantages and uses of concrete, cement aggregates, importance of water quality, water cement ratio, workability, mix design, storage, batching, mixing, placement, compaction, finishing and curing of concrete, quality control of concrete, hot weather and cold weather concreting, repair and maintenance of concrete structures.
  • RCC Design: RCC beams-flexural strength, shear strength, bond strength, design of singly reinforced and double reinforced beams, cantilever beams. T-beams, lintels. One way and two way 12 slabs, isolated footings. Reinforced brick works, columns, staircases, retaining wall, water tanks (RCC design questions may be based on both Limit State and Working Stress methods). Steel Design: Steel design and construction of steel columns, beams roof trusses plate girders.

इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग(भाग-B)

  • Basic concepts : Concepts of resistance, inductance, capacitance, and various factors affecting them. Concepts of current, voltage, power, energy and their units.
  • Circuit law : Kirchhoff’s law, Simple Circuit solution using network theorems.
  • Magnetic Circuit: Concepts of flux, mmf, reluctance, Different kinds of magnetic materials, Magnetic calculations for conductors of different configuration e.g. straight, circular, solenoidal, etc. Electromagnetic induction, self and mutual induction.
  • AC Fundamentals: Instantaneous, peak, R.M.S. and average values of alternating waves, Representation of sinusoidal wave form, simple series and parallel AC Circuits consisting of R.L. and C, Resonance, Tank Circuit. Poly Phase system – star and delta connection, 3 phase power, DC and sinusoidal response of R-Land R-C circuit.
  • Measurement and measuring instruments: Measurement of power (1 phase and 3 phase, both active and re-active) and energy, 2 wattmeter method of 3 phase power measurement. Measurement of frequency and phase angle. Ammeter and voltmeter (both moving oil and moving iron type), extension of range wattmeter, Multimeters, Megger, Energy meter AC Bridges. Use of CRO, Signal Generator, CT, PT and their uses. Earth Fault detection.

इलेक्ट्रिकल मशीन :

(a) D.C. Machine – Construction, Basic Principles of D.C. motors and generators, their characteristics, speed control and starting of D.C. Motors. Method of braking motor, Losses and efficiency of D.C. Machines.
(b) 1 phase and 3 phase transformers – Construction, Principles of operation, equivalent circuit, voltage regulation, O.C. and S.C. Tests, Losses and efficiency. Effect of voltage, frequency and wave form on losses. Parallel operation of 1 phase /3 phase transformers. Auto transformers.
(c) 3 phase induction motors, rotating magnetic field, principle of operation, equivalent circuit, torque-speed characteristics, starting and speed control of 3 phase induction motors. Methods of braking, effect of voltage and frequency variation on torque speed characteristics.
Fractional Kilowatt Motors and Single Phase Induction Motors: Characteristics and applications.
Synchronous Machines: Generation of 3-phase e.m.f. armature reaction, voltage regulation, parallel operation of two alternators, synchronizing, control of active and reactive power. Starting and applications of synchronous motors.
Generation, Transmission and Distribution: Different types of power stations, Load factor, diversity factor, demand factor, cost of generation, inter-connection of power stations. Power factor improvement, various types of tariffs, types of faults, short circuit current for symmetrical faults. Switchgears – rating of circuit breakers, Principles of arc extinction by oil and air, H.R.C. Fuses, Protection against earth leakage / over current, etc. Buchholtz relay, Merz-Price system of protection of generators & transformers, protection of feeders and bus bars. Lightning arresters, various transmission and distribution system, comparison of conductor materials, efficiency of different system. Cable – Different type of cables, cable rating and derating factor.
Estimation and costing: Estimation of lighting scheme, electric installation of machines and relevant IE rules. Earthing practices and IE Rules.
Utilization of Electrical Energy: Illumination, Electric heating, Electric welding, Electroplating, Electric drives and motors.
Basic Electronics: Working of various electronic devices e.g. P N Junction diodes, Transistors (NPN and PNP type), BJT and JFET. Simple circuits using these devices.

मैकेनिकल इंजीनियरिंग:

  • Theory of Machines and Machine Design :Concept of simple machine, Four bar linkage and link motion, Flywheels and fluctuation of energy, Power transmission by belts – V-belts and Flat belts, Clutches – Plate and Conical clutch, Gears – Type of gears, gear profile and gear ratio calculation, Governors – Principles and classification, Riveted joint, Cams, Bearings, Friction in collars and pivots.
  • Engineering Mechanics and Strength of Materials: Equilibrium of Forces, Law of motion, Friction, Concepts of stress and strain, Elastic limit and elastic constants, Bending moments and shear force diagram, Stress in composite bars, Torsion of circular shafts, Bucking of columns – Euler’s and Rankin’s theories, Thin walled pressure vessels.
  • Thermal Engineering: Properties of Pure Substances : p-v & P-T diagrams of pure substance like H2O, Introduction of steam table with respect to steam generation process; definition of saturation, wet & superheated status. Definition of dryness fraction of steam, degree of superheat of steam. H-s chart of steam (Mollier’s Chart).
  • 1st Law of Thermodynamics: Definition of stored energy & internal energy, 1st Law of Thermodynamics of cyclic process, Non Flow Energy Equation, Flow Energy & Definition of Enthalpy, Conditions for Steady State Steady Flow; Steady State Steady Flow Energy Equation. 2 nd Law of Thermodynamics : Definition of Sink, Source Reservoir of Heat, Heat Engine, Heat Pump & Refrigerator; Thermal Efficiency of Heat Engines & co-efficient of performance of Refrigerators, Kelvin – Planck & Clausius.
  • 2nd Law of Thermodynamics: Absolute or Thermodynamic Scale of temperature, Clausius Integral, Entropy, Entropy change calculation of ideal gas processes. Carnot Cycle & Carnot Efficiency, PMM-2; definition & its impossibility.
  • Air standard Cycles for IC engines: Otto cycle; plot on P-V, T-S Planes; Thermal Efficiency, Diesel Cycle; Plot on P-V, T-S planes; Thermal efficiency.
  • IC Engine Performance: IC Engine Combustion, IC Engine Cooling & Lubrication.
  • Rankine cycle of steam: Simple Rankine cycle plot on P-V, T-S, h-s planes, Rankine cycle efficiency with & without pump work.
  • Boilers: Classification; Specification;
  • Fittings & Accessories : Fire Tube & Water Tube Boilers.
  • Air Compressors & their cycles; Refrigeration cycles; Principle of a Refrigeraton Plant; Nozzles & Steam Turbines Fluid Mechanics & Machinery .
  • Properties & Classification of Fluid : ideal & real fluids, Newton’s law of viscosity, Newtonian and Non-Newtonian fluids, compressible and incompressible fluids.
  • Fluid Statics : Pressure at a point.
  • Measurement of Fluid Pressure : Manometers, U-tube, Inclined tube. Fluid Kinematics : Stream line, laminar & turbulent flow, external & internal flow, continuity equation.
  • Dynamics of ideal fluids : Bernoulli’s equation, Total head; Velocity head; Pressure head; Application of Bernoulli’s equitation.
  • Measurement of Flow rate Basic Principles : Venturimeter, Pilot tube, Orifice meter.
  • Hydraulic Turbines : Classifications, Principles.
  • Centrifugal Pumps : Classifications, Principles, Performance.

उत्पादन अभियांत्रिकी : Production Engineering :

Classification of Steels: mild steel & alloy steel, Heat treatment of steel, Welding – Arc Welding, Gas Welding, Resistance Welding, Special Welding Techniques i.e. TIG, MIG, etc. (Brazing & Soldering), Welding Defects & Testing; NDT, Foundry & Casting – methods, defects, different casting processes, Forging, Extrusion, etc, Metal cutting principles, cutting tools, Basic Principles of machining with (i) Lathe (ii) Milling (iii) Drilling (iv) Shaping (v) Grinding, Machines, tools & manufacturing processes.

SSC JE सिलेबस FAQs:-

Q. SSC JE पेपर 1 में कौन से विषय हैं?
SSC JE पेपर 1 में 3 विषय पूछे जाते हैं, जनरल इंटेलिजेंस एंड रीजनिंग, जनरल अवेयरनेस और जनरल इंजीनियरिंग।
Q. SSC JE के लिए पाठ्यक्रम क्या है?
SSC JE के सिलेबस में जनरल इंटेलिजेंस एंड रीज़निंग, जनरल अवेयरनेस एंड जनरल इंजीनियरिंग (सिविल एंड स्ट्रक्चरल, इलेक्ट्रिकल एंड मैकेनिकल) के विषय शामिल हैं।
Q. SSC JE पेपर 1 में कितने प्रश्न पूछे जाते हैं?
SSC JE पेपर 1 में कुल 200 प्रश्न होते हैं।

SSC CHSL सिलेबस 2020 in Hindi

शेष उम्मीदवारों के लिए SSC CHSL टियर 1 परीक्षा 12 अक्टूबर 2020 से 26 अक्टूबर 2020 तक आयोजित की जाएगी। SSC CHSL परीक्षा जैसे:- DEO, LDC, पोस्टल असिस्टेंट के अंतर्गत प्रतिष्ठित पदों के लिए लाखों अंडरग्रेजुएट छात्रों के साथ दिन प्रतिदिन कम्पटीशन कठिन हो रही है।अधिकअंकों के साथ कम्पटीशन को पास करने के लिए, SSC CHSL सिलेबस के बारे में पता होना चाहिए, जो परीक्षा के दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण प्रत्येक विषय को पूरी तरह से कवर करता है। SSC CHSL 2019-20 में 3 टियर अर्थात् टीयर 1, टियर 2 और टियर 3होता है। यहां टियर 1, टियर 2 और टियर 3 के सिलेबस का पूरा डिटेल दिया गया है।

SSC CHSL 2020 मार्किंग स्कीम

SSC CHSL परीक्षा के तहत प्रतिष्ठित पदों के लिए लाखों अंडरग्रेजुएट्स मेहनत करते हैं, और प्रतियोगिता दिन-प्रतिदिन होती जा रही है। SSC CHSL परीक्षा 3 स्तरों में आयोजित की जाती है, और उम्मीदवारों को सरकारी कार्यालयों में कई पदों के लिए चयनित होने के लिए सभी चरणों को क्लियर करने की आवश्यकता होती है। SSC CHSL टियर 1 ऑब्जेक्टिव मल्टीपल चॉइस प्रश्न पत्र के होते है, टियर 2 परीक्षा अंग्रेजी/हिंदी में लिखित परीक्षा होती है, जबकि टियर 3 कंप्यूटर प्रवीणता परीक्षा होती है।

Tier Type Exam Date Mode
Tier 1 Objective Multiple Choice 17th to 27th August 2020 Computer-Based (online)
Tier 2 Descriptive Paper in English/Hindi to be notified Pen and Paper mode
Tier 3 Skill Test/Computer Proficiency Test to be notified Wherever Applicable

Check SSC CHSL Exam Pattern in detail here

SSC CHSL सिलेबस और टीयर 1 के लिए परीक्षा पैटर्न:-

SSC CHSL Syllabus in Hindi: SSC CHSL टियर 1 सफलता की दिशा में पहला कदम है, जहां उम्मीदवार लाखों उम्मीदवारों के साथ 100 प्रश्नों के लिए परीक्षा में उपस्थित होंगे। उम्मीदवारों को 4 विषयों से 100 प्रश्न दिए जाएंगे; जिसमें जनरल इंटेलिजेंस और रीजनिंग, जनरल अवेयरनेस, गणित, और इंग्लिश कॉम्प्रिहेंशन को 60 मिनट में करने का प्रयास करना होता है। टियर 1 के अंतर्गत सभी विषयों के पूर्ण सिलेबस के साथ मार्किंग स्कीम नीचे दी गई है:

Section Subject No of Questions Max Marks Exam Duration
1 General Intelligence and Reasoning 25 50 60 minutes
2 General Awareness 25 50
3 Quantitative Aptitude 25 50
4 English Comprehension 25 50
Total 100 200
  • SSC CHSL 2018 टियर 1 परीक्षा में नकारात्मक अंकन है। किसी प्रश्न का गलत उत्तर देने पर सभी विषयों में 0.5 अंक काटा जायेगा।
  • नेत्रहीन उम्मीदवारों की परीक्षा अवधि 80 मिनट है।

SSC CHSL टीयर 1 सिलेबस:-

टियर 1 में पूछे गए प्रश्न चार विषय; सामान्य इंटेलीजेंस और रीजनिंग, सामान्य जागरूकता, गणित और अंग्रेजी कॉम्प्रीहेंसन के होंगे। सेक्शन-वाइज सिलेबस नीचे दी गई तालिका में दिया गया है। उम्मीदवारों को सभी विषयों का अध्ययन करना चाहिए। महत्वपूर्ण विषयों की एक सूची बनाना चाहिए और परीक्षा को क्रैक करने के लिए अध्ययन करना शुरू करना चाहिए।

General Intelligence and Reasoning Syllabus Quantitative Ability Syllabus English Language Syllabus General Awareness Syllabus
Logical Reasoning Simplification Reading Comprehension History
Alphanumeric Series Profit & Loss Cloze Test Culture
Ranking/Direction/Alphabet Test Mixtures & Allegations Para jumbles Geography
Data Sufficiency Simple Interest & Compound Interest & Surds & Indices Miscellaneous Economic Scene
Coded Inequalities Work & Time Fill in the blanks General Policy
Seating Arrangement Time & Distance Multiple Meaning/Error Spotting Scientific Research
Puzzle Mensuration – Cylinder, Cone, Sphere Paragraph Completion Awards and Honors
Tabulation Data Interpretation One Word Substitution Books and Authors
Syllogism Ratio & Proportion, Percentage Active/Passive Voice
Blood Relations Number Systems
Input-Output Sequence & Series
Coding-Decoding Permutation, Combination &Probability

अब आइए प्रत्येक सेक्शन को अलग अलग देखें कि इसमें क्या महत्वपूर्ण विषय हैं। प्रत्येक विषय का विस्तृत पाठ्यक्रम नीचे दिया गया है:

SSC CHSL सिलेबस:- जनरल इंटेलिजेंस और रीज़निंग 

रीज़निंग सिलेबस में वर्बल और नॉन-वर्बल दोनों प्रकार के प्रश्न शामिल होंगे। परीक्षा में सिमेंटिक एनोलॉजी, प्रतीकात्मक संक्रियाएं, प्रतीकात्मक / संख्या सादृश्य, आंकड़े सादृश्य, अंतरिक्ष अभिविन्यास, शब्दार्थ वर्गीकरण, वेन आरेख, संख्या / वर्गीकरण, अंकों का वर्गीकरण, छिद्रित होल / पैटर्न-फोल्डिंग और अनफोल्डिंग, समरूप श्रृंखला, आकृति श्रृंखला, संख्या श्रृंखला, निहित आंकड़े, आंकड़ो की श्रृंखला, तार्किक सोच, समस्या का समाधान, शब्द निर्माण, कोडिंग और डी-कोडिंग, और अन्य उप-विषय यदि कोई संख्यात्मक संकियाएं है, के प्रश्न होंगे।

आपकी सुविधा के लिए, हम SSC CHSL टियर 1 2018-19 परीक्षा में जनरल इंटेलिजेंस सेक्शन से पूछे गए प्रश्नों की सटीक संख्या दे रहे हैं, जो जुलाई 2019 में आयोजित की गई थी।

S.No. Topics No. Of Questions Level
1 Analogy 2-3 Easy
2 Odd One Out 2-3 Easy
3 Series 2 Easy
4 Statement & Conclusions 1 Easy-Moderate
5 Directions
6 Sequence 3 Easy
7 Coding-Decoding 3 Easy
8 Mathematical Operations 1 Easy
9 Matrix
10 Blood Relation 1 Easy
11 Mirror Image 2 Easy
12 Venn Diagram & Syllogism 2-3 Easy
13 Paper Folding Image 1 Easy
Total 25 Easy

SSC CHSL सिलेबस English Language 

SSC CHSL के अंग्रेजी भाषा के प्रश्न में Spot the Error, Fill in the Blanks, Synonyms/ Homonyms, Antonyms, Spellings/ Detecting misspelled words, Idioms & Phrases, One-word substitution, Improvement of Sentences, Active/ Passive Voice of Verbs, Conversion into Direct/ Indirect narration, Shuffling of Sentence parts, Shuffling of Sentences in a passage, Cloze Passage, Comprehension Passage होंगे।

जुलाई 2019 में आयोजित हुई SSC CHSL टियर 1 2018-19 परीक्षा के मुख्य विषयों के प्रश्नों की संख्या को सही प्रकार से समझने के लिए नीचे दी गई तालिका के देखें। यह विवरण आपको उस अनुसार विषयों को तैयार करने में मदद करेगा।

S.No. Topics No. Of Questions Level
1 Fill in the Blanks 2 Easy
2 Sentence Improvement 2 Easy-moderate
3 Error Detection 2 Easy
4 Sentence Rearrangement 2 Easy-moderate
5 Idioms and Phrases 2 Easy
6 Synonyms 2 Easy
7 Antonyms 2 Easy
8 Active Passive 1 Easy
9 Direct Indirect 1 Easy
10 Phrase Substitution 2 Easy-moderate
11 Spelling Correction 2 Easy
12 Cloze Test Passage 5 Easy-moderate
Total 25 Easy-Moderate

 

 SSC CHSL गणित सिलेबस

SSC CHSL Syllabus in Hindi : गणित का सिलेबस सबसे लंबा है और कई उम्मीदवारों को को एक कठिनाई उत्पन्न करता है।गणित में शामिल विषयों को उपविषय के साथ नीचे सूचीबद्ध किया गया है। उम्मीदवारों को इस पाठ्यक्रम को देखकर उसके अनुसार तैयारी करना चाहिए।

Arithmetic: Number Systems: Computation of Whole Number, Decimal and Fractions, Relationship between numbers

Fundamental arithmetical operations: Percentages, Ratio and Proportion, Square roots, Averages, Interest (Simple and Compound), Profit and Loss, Discount, Partnership Business, Mixture and Allegation, Time and distance, Time and work.

Algebra: Basic algebraic identities of Algebra and Elementary surds (simple problems) and Graphs of Linear Equations.
Geometry: Familiarity with elementary geometric figures and facts: Triangle and its various kinds of centers, Congruence and similarity of triangles, Circle and its chords, tangents, angles subtended by chords of a circle, common tangents to two or more circles.
Mensuration: Triangle, Quadrilaterals, Regular Polygons, Circle, Right Prism, Right Circular Cone, Right Circular Cylinder, Sphere, Hemispheres, Rectangular Parallelepiped, Regular Right Pyramid with triangular or square Base
Trigonometry: Trigonometric ratios, Complementary angles, Height and distances (simple problems only) Standard Identities like sin2 + Cos2=1, etc.
Statistical Charts: Use of Tables and Graphs: Histogram, Frequency polygon, Bar- diagram, Pie-chart
गणित के सिलेबस में कुल वितरण के साथ नीचे दी तालिका के विषय को शामिल किया गया है। इसे नीचे देखें:
S.No. Topics No. Of Questions Level
1 Percentage 1 Easy
2 Average 1 Easy-Moderate
3 Number System 1 Easy
4 Simplification 1 Easy
5 Time & Work 1 Easy-Moderate
6 Speed & Distance [Train] 1 Easy-Moderate
7 S.I. & C.I. 1 Easy-Moderate
8 Profit & Loss 2 Easy
9 Algebra 3 Easy-Moderate
10 Geometry 2 Easy
11 Mensuration 3 Easy-Moderate
12 Trigonometry 3 Easy-Moderate
13 DI [Bar Graph] 5 Easy
Total Questions 25 Easy-Moderate

 

SSC CHSL सामान्य जागरूकता सिलेबस:-

जब SSC CHSL परीक्षा 2019-20 की बात आती है, तो सामान्य जागरूकता अनुभाग के कठिनाई स्तर की उपेक्षा नहीं की जा सकती है। हमने SSC CHSL टियर 1 2018-19 परीक्षा में प्रासंगिक विषयों से आए प्रश्नों की संख्या दी है,जो जुलाई 2019 में आयोजित की गई थी। परीक्षा में इतिहास, संस्कृति, भूगोल, अर्थव्यवस्था आदि से प्रश्न पूछे जाएँगे
S.No.
Topics
No. Of Questions
1 History 1
2 Polity 4
3 Geography 1
4 Economics 2-3
5 Static Awareness 1
6 Biology 1-2
7 Chemistry 2-3
8 Physics 2-3
9 Computer 1
10 Current Affairs 4-5
Total Questions 25

SSC CHSL टीयर 2 परीक्षा पैटर्न 2019-20

SSC CHSL टियर 2 सिलेबस 2019-20

जैसा कि ऊपर उल्लेख किया गया है, इस पत्र के लिए उम्मीदवारों को एक निबंध और पत्र / आवेदन लिखना होता है जो उम्मीदवारों के लेखन कौशल का परीक्षण करता है। निबंध विषय राष्ट्रीय हित, वित्त और अर्थव्यवस्था, पारिस्थितिक मुद्दे, सामाजिक मुद्दे, राजनीति, योजनाएं और शासन, प्रौद्योगिकी, खेल, भू-राजनीति, पर्यावरण संबंधी चिंताएं आदि से संबंधित होंगे, जबकि, पत्र /आवेदन, शिकायत , सुझाव, आवेदन, आधिकारिक प्रशंसा, अनुवर्ती करवाई या प्रतिक्रिया, आदि से सम्बंधित होंगे।

SSC CHSL टियर 3 सिलेबस

SSC CHSL 2019-20 का टियर- III, एक स्किल/टाइपिंग टेस्ट होगा, जो क्वालिफाइंग नेचर का होगा। चयनित उम्मीदवारों की अंतिम मेरिट टियर 1 और टियर 2 में प्राप्त कुल अंकों के आधार पर होगी।

डाटा एंट्री ऑपरेटर के लिए स्किल टेस्ट:

इस परीक्षा में, एक उम्मीदवार के पास प्रति घंटे 8,000 (आठ हजार) कुंजी की टाइपिंग स्पीड होनी चाहिए। टेस्ट की अवधि 15 मिनट होगी और 2000-2200 स्ट्रोक/ की-डिप्रेशन वाले अंग्रेजी डॉक्यूमेंट टाइप करने के लिए दिए जाएंगे
SSC CHSL Syllabus – Tier III
Skill Test Speed Time
Data Entry Operator

Data Entry Speed of 8000 key depressions per hour on the computer.

  • The duration of the test will be for 15 minutes.
  • Printed matter in English containing about 2000-2200 key-depressions would be given to each candidate who will enter the same in the test computer
Data Entry Operator in the Office of the Comptroller and Auditor General of India (C&AG) The ‘speed of 15000 key depressions per hour will be considered on the basis of the correct entry of words or key depressions as per the given passage.
  • The duration of the test will be for 15 minutes
  • Printed matter in English containing about 3700-4000 key-depressions to enter the same in the test computer
Lower Division Clerk/ Junior Secretariat Assistant (LDS/JSA) and Postal Assistants/ Sorting Assistants (PA/SA) The speed of 10500 key depressions per hour will be adjudged.
  • The duration of the test will be for 15 minutes.
  • Printed matter in English containing about 9000 key-depressions/hour will be given to each candidate to enter the same in the test computer.

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न:

Q. SSC CHSL Tier 1 का परीक्षा पैटर्न क्या है?
Ans. SSC CHSL Tier 1 परीक्षा में, उम्मीदवारों को 4 विषयों से 100 प्रश्न दिए जाएंगे; जनरल इंटेलिजेंस एंड रीजनिंग, जनरल अवेयरनेस, क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड, और इंग्लिश कॉम्प्रिहेंशन जिसके लिए उम्मीदवारों को 60 मिनट दिए जाएँगे।
Q. SSC CHSL Tier 1 परीक्षा का सिलेबस क्या है?
Ans. टीयर 1 में चार विषयों से प्रश्न पूछे जाते हैं; जनरल इंटेलिजेंस एंड रीजनिंग, जनरल अवेयरनेस, क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड, और इंग्लिश कॉम्प्रिहेंशन। उम्मीदवार ऊपर दिए गए पोस्ट में टीयर 1 का सिलेबस देख सकते हैं।
Q. SSC CHSL टीयर 2 परीक्षा का सिलेबस क्या है?
Ans. SSC CHSL टीयर 2 परीक्षा में उम्मीदवारों को निबंध और पत्र / एप्लीकेशन लिखना होता है जो उम्मीदवारों के लेखन कौशल का परीक्षण करता है।
Q. SSC CHSL टीयर III परीक्षा का सिलेबस क्या है?
Ans. SSC CHSL 2019-20 का टीयर- III स्किल / टाइपिंग टेस्ट होगा जो क्वालिफाइंग नेचर का होगा। चयनित उम्मीदवारों की अंतिम योग्यता टीयर 1 और टीयर 2 में प्राप्त कुल अंकों के आधार पर होगी।

SSC CGL सिलेबस 2020: कर्मचारी चयन आयोग, SSC CGL परीक्षा आयोजित करने के लिए पूरी तरह तैयार है। टियर 1, टियर 2, टियर 3 और टियर 4 परीक्षा सिलेबस आयोग द्वारा जारी किया गया है। कर्मचारी चयन आयोग भारत सरकार के अंतर्गत कई विभागों में विभिन्न ग्रुप B और ग्रुप C पदों पर भर्ती के लिए हर साल SSC CGL परीक्षा आयोजित करता है। कर्मचारी चयन आयोग (SSC) हर साल चार टियर में संयुक्त स्नातक स्तर (CGL) परीक्षा आयोजित करता है, अर्थात्: टियर 1, टियर 2, टियर 3, और टियर 4। SSC CGL टियर 1 और टियर 2 ऑनलाइन मोड में; टियर 3 पेन एंड पेपर मोड में आयोजित किए जाते हैं। जबकि टियर 4 में कंप्यूटर स्किल टेस्ट होता है।

इस परीक्षा की बेहतर तैयारी करने के लिए SSC CGL सिलेबस और परीक्षा पैटर्न का ज्ञान आवश्यक है। SSC CGL 2020-21 परीक्षा को क्रैक करने के लिए सभी को अच्छी तरह से अध्ययन और तैयारी करनी चाहिए, एक प्रोपर स्टडी प्लान के अनुसार प्रैक्टिस करना चाहिए, जो SSC CGL 2019-20 के अनुसार नवीनतम स्टडी प्लान और नवीनतम परीक्षा पैटर्न पर आधारित हो।

SSC CGL सिलेबस 2020: चयन प्रक्रिया

उम्मीदवारों की मदद करने के लिए, SSCAdda सभी SSC CGL उम्मीदवारों को नवीनतम SSC परीक्षा के सिलेबस प्रदान कर रहा है, ताकि वे परीक्षा में बेहतर तरीके से तैयारी कर सकें। उम्मीदवार सभी टॉपिक पर ध्यान देकर और SSC CGL सिलेबस 2020 के अनुसार स्टडी कर सकते हैं।

SSC CGL टियर 1 परीक्षा तिथि 3-9 मार्च 2020
SSC CGL टियर 2 परीक्षा तिथि 2 से 5 नवम्बर 2020
SSC CGL टियर 3 परीक्षा तिथि शीघ्र सूचित किया जायेगा
SSC CGL टियर 4 परीक्षा तिथि शीघ्र सूचित किया जायेगा

परीक्षा में बैठने से पहले SSC CGL का पूरा सिलेबस जानना सबसे पहला और महत्वपूर्ण काम होता है। टियर 1, टियर 2, टियर 3 और टियर 4 का पूरा SSC CGL 2020 सिलेबस नीचे पोस्ट में दिया गया है।

टियर परीक्षा का प्रकार परीक्षा का माध्यम
टियर-I वस्तुनिष्ठ बहुविकल्पीय(Objective Multiple Choice) कंप्यूटर आधारित परीक्षा(ऑनलाइन)
टियर-II  वस्तुनिष्ठ बहुविकल्पीय(Objective Multiple Choice) कंप्यूटर आधारित परीक्षा(ऑनलाइन)
टियर-III  वस्तुनिष्ठ बहुविकल्पीय(Objective Multiple Choice) पेन और पेपर आधारित(ऑफलाइन)
टियर-IV स्किल टेस्ट: डाटा एंट्री स्पीड टेस्ट(DEST)/ कंप्यूटर दक्षता टेस्ट(CPT) जिसके लिए आवश्यक है (सभी पदों के लिए अनिवार्य नहीं है)
डॉक्युमेंट वेरिफिकेशन सभी पदों के लिए होगी

Click here to download SSC CGL Syllabus Official PDF

SSC CGL टियर 1 सिलेबस 2020:

छात्रों के लिए नीचे दिए गए सभी सेक्शन के टीयर 1 का विस्तृत SSC CGL सिलेबस दिया गया है: –

SSC CGL विषय SSC CGL टियर 1 सिलेबस
SSC जनरल इंटेलिजेंस एंड रीजनिंग सिलेबस
  • वर्गीकरण(Classification)
  • सादृश्यता(Analogy)
  • कोडिंग और डिकोडिंग(Coding and Decoding)
  • आव्यूह (Matrix)
  •  शब्द निर्माण(Word Formation)
  • वेन आरेख(Venn Diagrams)
  • दिशा और दूरी
  • रक्त संबंध
  • श्रृंखला
  • वर्बल रीजनिंग
  • नन-वर्बल रीजनिंग
जनरल अवेयरनेस
  • सामान्य ज्ञान(भारतीय इतिहास, संस्कृति, भूगोल)
  • राजनीति, अर्थव्यवस्था, पडोसी देश, आदि)
  • विज्ञान
  • पुस्तक और लेखक
  • करंट अफेयर
  • महत्वपूर्ण योजनायें
  • खेल
  • ख़बरों में रहे व्यक्ति
  • विभाग
गणित
अंग्रेजी भाषा

SSC CGL जनरल इंटेलिजेंस एंड रीजनिंग सिलेबस:

जनरल इंटेलिजेंस एंड रीजनिंग सिलेबस में वर्बल और नन- वर्बल दोनों प्रकार के प्रश्न होते हैं। इसमें analogies, similarities and differences, space visualization, spatial orientation, problem solving, analysis, judgment, decision making, visual memory, discrimination, observation, relationship concepts, arithmetical reasoning और figural classification, arithmetic number series, non-verbal series, coding and decoding, statement conclusion, syllogistic reasoning आदि आते है।
इसके साथ इसमें Semantic Analogy, Symbolic/ Number Analogy, Figural Analogy, Semantic Classification, Symbolic/ Number Classification, Figural Classification, Semantic Series, Number Series, Figural Series, Problem Solving, Word Building, Coding & de-coding, Numerical Operations, symbolic Operations, Trends, Space Orientation, Space Visualization, Venn Diagrams, Drawing inferences, Punched hole/ pattern- folding & un-folding, Figural Pattern- folding and completion, Indexing, Address matching, Date & city matching, Classification of centre codes/roll numbers, Small & Capital letters/ numbers coding, decoding and classification, Embedded Figures, Critical thinking, Emotional Intelligence, Social Intelligence टॉपिक भी शामिल होते है।

SSC CGL गणित सिलेबस

SSC CGL टीयर 1 के लिए SSC CGL गणित सिलेबस: क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड के प्रश्नों में अभ्यर्थियों की संख्या और संख्या के उचित उपयोग की क्षमता का परीक्षण करने के लिए डिज़ाइन किया जाता है। SSC CGL गणित के सिलेबस के टॉपिक निम्नलिखित है:

  • पूर्ण संख्याओं की गणना,
  • दासमिक संख्या,
  • भिन्न और संख्याओं के बीच संबंध,
  • लाभ और हानि,
  • समय और दूरी,
  • समय और कार्य,
  • प्रतिशत
  • अनुपात और समानुपात,
  • छूट
  • साझेदारी,
  • मिश्रण और अलगाव,
  • वर्गमूल,
  • औसत,
  • रैखिक समीकरणों का ग्राफ,
  • त्रिभुज  और इसके विभिन्न प्रकार,
  • त्रिभुजों में समानता,
  • ब्याज,
  • बेसिक अंकगणित और प्रारंभिक करणी,
  • वृत्त और इसकी जीवा,
  • त्रिभुज,
  • चतुर्भुज,
  • स्पर्शरेखा,
  • वृत्त की जीवा द्वारा बनाया गया कोण,
  • दो या दो से अधिक वृतों की उभयनिष्ठ स्पर्शरेखा,
  • सम बहुभुज,
  • वृत्त,
  • लम्ब प्रिज्म,
  • लम्ब  वृत्तीय शंकु,
  • लम्ब  वृत्तीय बेलन,
  • गोला,
  • ऊंचाई और दूरी
  • अर्धगोला,
  • आयताकार समानांतर चतुर्भुज,
  • त्रिभुजाकार और वर्गाकार आधार का लम्ब पिरामिड
  • आयतचित्र,
  • बारंबारता बहुभुज,
  • बार आरेख और पाई-चार्ट,
  • त्रिकोणमितीय अनुपात,
  • डिग्री और रेडियन माप, सर्वसमिका,
  • पूरक कोण

SSC CGL इंग्लिश सिलेबस:

यह सेक्शन में उम्मीदवारों की अंग्रेजी की सही समझ क्षमता, उनकी बुनियादी समझ और लेखन क्षमता आदि का टेस्ट होता है। इस सेक्शन में Phrases and Idioms, One word Substitution, Sentence Correction, Error Spotting, Fill in the Blanks, Spellings Correction, Reading Comprehension, Synonyms-Antonyms, Active Passive, Sentence Rearrangement, Sentence Improvement, Cloze test आदि के प्रश्न होते हैं।

SSC CGL जनरल अवेयरनेस सिलेबस:

इस सेक्शन के प्रश्नों का उद्देश्य उम्मीदवारों के सामान्य जागरूकता (GK + GS) का उनके आस-पास के वातावरण और समाज के लिए इसके अनुप्रयोग का टेस्ट करना होता है। इसमें भारत और उसके पड़ोसी देशों से संबंधित प्रश्न भी शामिल होंगे, विशेष रूप से इतिहास, संस्कृति, भूगोल, आर्थिक दृश्य, सामान्य नीति और वैज्ञानिक अनुसंधानविज्ञान, करंट अफेयर्स, पुस्तकों और लेखकों, खेल, महत्वपूर्ण योजनाओं, महत्वपूर्ण दिनों, विभागों, समाचारों आदि से भी प्रश्न पूछे जाएंगे।

SSC CGL 2020 टियर 1 परीक्षा का परीक्षा पैटर्न

SSC CGL टियर- I 2020 परीक्षा में 25-25 प्रश्नों के 4 सेक्शन होते हैं, जो नीचे दी गई तालिका में दिखाया गया है:

S No. Sections No. of Questions Total Marks Time Allotted
1 General Intelligence and Reasoning 25 50 A cumulative time of 60 minutes
2 General Awareness 25 50
3 Quantitative Aptitude 25 50
4 English Comprehension 25 50
Total 100 200
  • किसी भी प्रश्न का उत्तर देते समय उम्मीदवारों को सावधान रहना चाहिए क्योंकि पिछले वर्षों की तरह इसमें भी नकारात्मक अंकन की संभावना रहती है।
  • SSC CGL परीक्षा पैटर्न के अनुसार, प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 0.5 अंकों की कटौती होगी।
  • उम्मीदवारों को सभी पेपरों की प्रैक्टिस करनी चाहिए और पिछले वर्षों के बहुत सारे प्रश्न पत्रों को हल करना चाहिए।
  • उम्मीदवारों को SSC CGL टियर 1 के सिलेबस में दिए गए सभी महत्वपूर्ण टॉपिक को कवर करना चाहिए।
  • SSC CGL के रीजनिंग के सिलेबस को गहराई से समझाना चाहिए क्योंकि इसमें कई टॉपिक होते हैं।
  • SSC CGL परीक्षा पैटर्न को देखते समय उम्मीदवारों को बहुत सावधान रहना चाहिए क्योंकि यह समय-समय पर बदलता रहता है।

SSC CGLटियर -2 परीक्षा सिलेबस:

Quantitative Aptitude English Language Statistics General Awareness
Simplification Reading Comprehension Collection and Representation of Data Finance and Accounting
Interest Spelling Measure of Dispersion Fundamental Principles
Averages Fill in the Blanks Measure of Central Tendency Financial Accounting
Percentage Phrases and Idioms Moments, Skewness and Kurtosis Basic Concepts of Accounting
Ratio and Proportion One Word Substitution Correlation and Regression Self-Balancing Ledger
Speed, Distance and Time Sentence Correction Random Variables Error Spotting and Correction
Number System Error Spotting Random Variables
Mensuration Cloze Test Sampling Theory Economics and Governance
Data Interpretation Para Jumbles Analysis and Variance Comptroller and Auditor General of India
Time and Work Synonyms-Antonyms Time Series Analysis Finance Commission
Algebra Active-Passive Voice Index Number Theory of Demand and Supply
Trigonometry
Geometry
Data Sufficiency

SSC CGL पेपर-I (गणित) सिलेबस:

SSC CGL टीयर 1 के लिए SSC CGL गणित सिलेबस: क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड के प्रश्नों में अभ्यर्थियों की संख्या और संख्या के उचित उपयोग की क्षमता का परीक्षण करने के लिए डिज़ाइन किया जाता है। इसमें पूर्ण संख्याओं, दशमलव, भिन्नों और संख्याओं के बीच संबंधों, प्रतिशत, अनुपात और समानुपात, वर्गमूल, लाभ, ब्याज, लाभ और हानि, छूट, साझेदारी व्यापार, मिश्रण और अलगाव(Mixture and Alligation), समय और दूरी, समय और कार्य, स्कूल बीजगणित की सर्वसमिका और प्राथमिक करणी, रेखीय समीकरणों का ग्राफ, त्रिभुज और इसके विभिन्न प्रकार , त्रिभुज और वृत्त, वृत्त और इसकी जीवा, स्पर्शरेखा, कोणों की बीजगणितीय सर्वसमिका, दो या दो से अधिक वृत्तों की उभयनिष्ठ स्पर्शरेखा, त्रिभुज, चतुर्भुज, नियमित बहुभुज, वृत्त, लम्ब प्रिज्म, लम्ब वृत्तीय शंकु, लम्ब वृत्तीय बेलन, गोला, गोलार्ध, आयताकार समानांतर चतुर्भुज, त्रिभुजाकार या वर्गाकार आधार पर बना पिरामिड, त्रिकोणमितीय अनुपात, डिग्री और रेडियन, मानक सर्वसमिका, पूरक कोण, ऊँचाई और दूरी, हिस्टोग्राम, बारंबारता बहुभुज, बार आरेख और पाई चार्ट की गणना संबंधी प्रश्न होते है।

SSC CGL पेपर- II (इंग्लिश लैंग्वेज एंड कॉम्प्रीहेंशन) सिलेबस:

इस सेक्शन के प्रश्नों को उम्मीदवार की अंग्रेजी भाषा की समझ और ज्ञान के परीक्षण करने के लिए डिज़ाइन किया जाता है। इसमें on spot the error, fill in 21 the blanks, synonyms, antonyms, spelling/ detecting misspelled words, idioms & phrases, one word substitution, improvement of sentences, active/ passive voice of verbs, conversion into direct/ indirect narration, shuffling of sentence parts, shuffling of sentences in a passage, cloze passage & comprehension passage आदि के प्रश्न पूछे जायेंगे।

SSC CGL पेपर- III (सांख्यिकी) सिलेबस:

1. Collection, Classification and Presentation of Statistical Data – Primary and Secondary data, Methods of data collection; Tabulation of data; Graphs and charts; Frequency distributions; Diagrammatic presentation of frequency distributions.

2. Measures of Central Tendency – Common measures of central tendency – mean median and mode; Partition values- quartiles, deciles, percentiles.

3. Measures of Dispersion- Common measures dispersion – range, quartile deviations, mean deviation and standard deviation; Measures of relative dispersion.

4. Moments, Skewness and Kurtosis – Different types of moments and their relationship; meaning of skewness and kurtosis; different measures of skewness and kurtosis.

5. Correlation and Regression – Scatter diagram; simple correlation coefficient; simple regression lines; Spearman‟s rank correlation; Measures of association of attributes; Multiple regression; Multiple and partial correlation (For three variables only).

6. Probability Theory – Meaning of probability; Different definitions of probability; Conditional probability; Compound probability; Independent events; Bayes‟ theorem.

7. Random Variable and Probability Distributions – Random variable; Probability functions; Expectation and Variance of a random variable; Higher moments of a random variable; Binomial, Poisson, Normal and Exponential distributions; Joint distribution of two random variable (discrete).

8. Sampling Theory – Concept of population and sample; Parameter and statistic, Sampling and non-sampling errors; Probability and nonprobability sampling techniques(simple random sampling, stratified sampling, multistage sampling, multiphase sampling, cluster sampling, systematic sampling, purposive sampling, convenience sampling and quota sampling); Sampling distribution(statement only); Sample size decisions.

9. Statistical Inference – Point estimation and interval estimation, Properties of a good estimator, Methods of estimation (Moments method, Maximum likelihood method, Least squares method), Testing of hypothesis, Basic concept of testing, Small sample and large sample tests, Tests based on Z, t, Chi-square and F statistic, Confidence intervals.

10. Analysis of Variance – Analysis of one-way classified data and twoway classified data.

11. Time Series Analysis – Components of time series, Determinations of trend component by different methods, Measurement of seasonal variation by different methods.

12. Index Numbers – Meaning of Index Numbers, Problems in the construction of index numbers, Types of index number, Different formulae, Base shifting and splicing of index numbers, Cost of living Index Numbers, Uses of Index Numbers.

SSC CGL पेपर- IV (सामान्य अध्ययन-वित्त और अर्थशास्त्र):

भाग A: वित्त और लेखा- (80 अंक):
मौलिक सिद्धांत और लेखांकन की मूल अवधारणा:
1.1 वित्तीय लेखांकन: प्रकृति और कार्यक्षेत्र, वित्तीय लेखांकन की सीमाएँ, बुनियादी अवधारणाएँ और रूढ़ियाँ, आम तौर पर स्वीकृत लेखांकन सिद्धांत।
1.2 लेखांकन की मूल अवधारणाएं: एकल और दोहरी प्रविष्टि, मूल प्रविष्टि की पुस्तकें, बैंक सुलह, जर्नल, लेजर, ट्रायल बैलेंस, त्रुटियों में सुधार, विनिर्माण, व्यापार, लाभ और हानि, विनियोग खाते, पूंजी और राजस्व व्यय के बीच बैलेंस शीट का अंतर, मूल्यह्रास लेखांकन , इन्वेंटरी, गैर-लाभकारी संगठनों के खातों, प्राप्तियों और भुगतान और आय और व्यय खाते, बिल विनिमय, सेल्फ बैलेंसिंग लेजर।

भाग B: अर्थशास्त्र और शासन- (120 अंक):
2.1 भारत के नियंत्रक और महालेखा परीक्षक-
संवैधानिक प्रावधान, भूमिका और जिम्मेदारी।
2.2 वित्त आयोग-भूमिका और कार्य
2.3 अर्थशास्त्र की मूल अवधारणा और माइक्रो इकोनॉमिक्स की मूल बातें: अर्थशास्त्र की परिभाषा, कार्यक्षेत्र और प्रकृति, आर्थिक अध्ययन के तरीके और अर्थव्यवस्था की केंद्रीय समस्याएं और उत्पादन संभावना वक्र(Production possibilities curve)।
2.4 मांग और आपूर्ति का सिद्धांत: मांग का अर्थ और निर्धारक, मांग का नियम और मांग की लोच, मूल्य, आय और क्रॉस इलास्टिसिटी; उपभोक्ता के मर्शालियन दृष्टिकोण व्यवहार का सिद्धांत और उदासीनता वक्र दृष्टिकोण, आपूर्ति के अर्थ और निर्धारक, आपूर्ति का नियम और आपूर्ति का लोच।
2.5 उत्पादन और लागत का सिद्धांत: उत्पादन के अर्थ और कारक, उत्पादन के नियम- चर अनुपात का नियम और स्केल में रिटर्न के नियम।
2.6 विभिन्न बाजारों का बाजार मूल्य और बाजार की संरचना: इसमें बाजार के विभिन्न प्रकार-पूर्ण प्रतियोगिता(परफेक्ट कॉम्पिटिशन), एकाधिकार, एकाधिकार प्रतियोगिता और अल्पाधिकार विज्ञापन मूल्य निर्धारण आदि आते है।

2.7 भारतीय अर्थव्यवस्था:
2.7.1 भारतीय अर्थव्यवस्था की प्रकृति विभिन्न क्षेत्रों की भूमिका कृषि, उद्योग और सेवाएं-उनकी समस्याएं और विकास।
2.7.2 भारत की राष्ट्रीय आय-राष्ट्रीय आय की अवधारणा, राष्ट्रीय आय को मापने के विभिन्न तरीके।
2.7.3 जनसंख्या, विकास की दर और आर्थिक विकास पर इसका प्रभाव।
2.7.4 गरीबी और बेरोजगारी- पूर्ण और सापेक्ष गरीबी,बेरोजगारी के प्रकार, कारण और घटनाएं।
2.7.5अवसंरचना-ऊर्जा, परिवहन, संचार।

2.8 भारत में आर्थिक सुधार: 1991 के बाद का आर्थिक सुधार; उदारीकरण, निजीकरण, वैश्वीकरण और विनिवेश।

2.9 धन और बैंकिंग:
2.9.1 मौद्रिक / राजकोषीय नीति- भारतीय रिज़र्व बैंक की भूमिका और कार्य; वाणिज्यिक बैंकों/RRB/ पेमेंट बैंकों के कार्य।
2.9.2बजट और राजकोषीय घाटे और भुगतान संतुलन।
2.9.3 राजकोषीय उत्तरदायित्व और बजट प्रबंधन अधिनियम, 2003।

2.10 शासन में सूचना प्रौद्योगिकी की भूमिका।

नोट: पेपर- I में प्रश्न मैट्रिकुलेशन लेवल के, पेपर- II के प्रश्न 10 + 2 लेवल के और पेपर- III और पेपर- IV के ग्रेजुएशन लेवल के होंगे।

SSC CGL टियर 2 परीक्षा का परीक्षा पैटर्न:
SSC CGL टियर-2 परीक्षा 200 अंकों की होती है। परीक्षा के प्रत्येक सेक्शन को पूरा करने के लिए उम्मीदवारों को 2 घंटे की समय दी जाती है। दिव्यांग छात्रों को, टियर -2 परीक्षा को हल करने के लिए 2 घंटे 40 मिनट का समय दिया जाता है।

  • पेपर- II (इंग्लिश लैंग्वेज एंड कॉम्प्रीहेंशन) में प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 0.25 अंक और पेपर- I, पेपर- III और पेपर- IV में प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 0.50 अंक की नकारात्मक अंकन होती है।
S No. Sections No. of Questions Total Marks Time Allotted
1 Quantitative Ability 100 200 2 hours
2 English Language and Comprehension 200 200 2 hours
3 Statistics 100 200 2 hours
4 General Studies (Finance and Economics) 100 200 2 hours
  • विकल्प भरते समय उम्मीदवारों को सावधान रहने की जरूरत है क्योंकि इस पेपर में विकल्प के रूप में हिंदी/अंग्रेजी है।
  • यह परीक्षा अन्य परीक्षाओं की तुलना में तुलनात्मक रूप से आसान होती है, लेकिन उम्मीदवारों को इस परीक्षा को पास करने के लिए कुल अंकों में से कम से कम एक तिहाई अंक प्राप्त करनी होती है।
  • SSC CGL परीक्षा में दिव्यांग उम्मीदवारों के लिए समय अवधि 80 मिनट है।

SSC CGL टियर 3 परीक्षा का सिलेबस:

SSC CGL 2020 टियर III परीक्षा, अंग्रेजी/हिंदी में उम्मीदवारों के लिखित कौशल का विश्लेषण करने के लिए एक लिखित परीक्षा होती है। यह परीक्षा ऑफ़लाइन होती है और छात्रों को इस परीक्षा में निबंध, संक्षेपण, आवेदन, पत्र, आदि लिखना है। परीक्षा 100 अंकों की होगी और इसके लिए आवंटित समय 60 मिनट है। PWD श्रेणी से संबंधित उम्मीदवारों के लिए आवंटित समय को बढ़ाकर 80 मिनट कर दिया गया है। टियर- III पेपर केवल उन उम्मीदवारों का होता है, जो “सांख्यिकीय अन्वेषक ग्रेड- II” और “कंपाइलर” के पद में रुचि रखते हैं।

SSC CGL टियर 4 परीक्षा का सिलेबस

SSC CGL टियर -4 परीक्षा में देश भर में कुछ सरकारी पदों के लिए आवश्यक स्किल सेट का टेस्ट किया जाता है।
  • DEST (डेटा एंट्री स्पीड टेस्ट): टैक्स असिस्टेंट (सेंट्रल एक्साइज एंड इनकम टैक्स) के पद के लिए, SSC CGL 2017 परीक्षा के माध्यम से DEST परीक्षा उम्मीदवार की टाइपिंग स्पीड की जाँच करने के लिए आयोजित की जाती है। उम्मीदवारों को अंग्रेजी में एक लेख दिया जाता है, जिसे उन्हें कंप्यूटर पर लिखना होता है। एक उम्मीदवार को 15 मिनट में 2000 शब्द टाइप करना आवश्यक होता है।

Click here to download SSC CGL Syllabus Official PDF

SSC CGL टियर -1 और SSC CGL टियर -2 परीक्षा SSC CGL 2018 अधिसूचना में उल्लेखित सभी पदों के लिए अनिवार्य है, जबकि टियर -3 विशेष रूप से सांख्यिकीय अन्वेषक ग्रेड- II और कंपाइलर के पद के लिए आवेदन करने वाले उम्मीदवारों के लिए है। इसी तरह, टीयर -4 परीक्षा TA, CSS, MEAऔर इंस्पेक्टर के लिए विशेष रूप से आवेदन करने वाले उम्मीदवारों की ली जाती है।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न:

Q. SSC CGL 2020 टियर II परीक्षा की परीक्षा तिथि क्या है?
SSC CGL टीयर 2 परीक्षा 2 से 5 नवंबर, 2020 तक आयोजित की जाएगी।
Q. SSC CGL टियर 2 परीक्षा में पूछे जाने वाले विषय कौन से हैं।
SSC CGL टियर परीक्षा में क्वांटिटेटिव एबिलिटी, इंग्लिश लैंग्वेज एंड कॉम्प्रिहेंशन, स्टैटिस्टिक्स और जनरल स्टडीज (वित्त और अर्थशास्त्र) से प्रश्न पूछे जाएंगे।
Q. क्या SSC CGL टियर 2 परीक्षा में कोई नकारात्मक अंकन होगा?
हां, पेपर- II (इंग्लिश लैंग्वेज एंड कॉम्प्रीहेंशन) में प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 0.25 अंक और पेपर- I, पेपर- III और पेपर- IV में प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 0.50 अंक का नकारात्मक अंकन होगा।
Q. SSC CGL 2019-20 एडमिट कार्ड कब जारी होगा?
परीक्षा की तिथि से 15 दिन पहले एडमिट कार्ड जारी किया जाएगा।

You may also like to read: 

UPSSSC लेखपाल सिलेबस और परीक्षा पैटर्न 2020 : उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (UPSSSC) लेखपाल के 5200 रिक्त पदों को भरने के लिए उम्मीदवारों की भर्ती करेगा। उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग देश में लॉकडाउन समाप्त होने के बाद अपनी आधिकारिक वेबसाइट @ upsssc.gov.in पर ग्रुप ’C’ पद के अंतर्गत UPSSSC लेखपाल की आधिकारिक भर्ती अधिसूचना जारी करेगा। इस बीच, सभी उम्मीदवार, जो UPSSSC लेखपाल 2020 भर्ती की तैयारी कर रहे हैं, उन्हें सलाह है कि वे इसके परीक्षा पैटर्न और सिलेबस को देखें। सिलेबस और परीक्षा पैटर्न उन्हें अपने चेंज और कड़ी मेहनत करने की जरूरत को जानने में मदद करेगा। सभी इच्छुक उम्मीदवार नीचे दिए गए लेख से सिलेबस, परीक्षा पैटर्न और चयन प्रक्रिया के बारे में जान सकते हैं।

UPSSSC Lekhpal Syllabus 2020: Overview

UPSSSC लेखपाल 2020 परीक्षा के महत्वपूर्ण बिंदु नीचे दिए गए हैं।

Recruitment UPSSSC Lekhpal 2020
Name Of The Exam UPSSSC Lekhpal Exam 2020
Name Of The Organization Uttar Pradesh Subordinate Services Selection Commission
Total Vacancy 5200+
Job Type State Government Job
Job Location Uttar Pradesh
Application Process Online
Status Released
Official Site upsssc.gov.in

UPSSSC Lekhpal Syllabus 2020: चयन प्रक्रिया

उम्मीदवारों का चयन पूर्ण रूप से लिखित परीक्षा के आधार पर किया जाएगा। पहले एक लिखित परीक्षा हुआ करती थी जिसके बाद इंटरव्यू होता था। लिखित परीक्षा 100 मार्क्स की होगी और UPSSSC लेखपाल पेपर में चार सेक्शन होंगे। परीक्षा OMR शीट पर आयोजित की जाएगी। परीक्षा के चार खंड इस प्रकार हैं:

  • Hindi
  • Maths
  • General Knowledge and
  • Development and Rural Society.

UPSSSC Lekhpal 2020: परीक्षा पैटर्न

जैसा कि पहले बताया गया है, UPSSSC लेखपाल 2020 परीक्षा में केवल एक लिखित परीक्षा होगी और कोई इंटरव्यू नहीं होगा। UPSSSC लेखपाल लिखित परीक्षा इंटरमीडिएट स्तर की होगी। लिखित परीक्षा वस्तुनिष्ठ प्रकार के 100 अंकों की होगी। 4 विषय होंगे जिसमें प्रत्येक विषय 25 अंक का होगा और कुल 100 अंक होंगे। प्रश्न के अंकों के 1/4 अंक का नकारात्मक अंकन भी होगा।

Subjects No. of Questions No. of Marks
General Hindi 25 25
Mathematics 25 25
General Knowledge 25 25
Village Society & Development 25 25

UPSSSC Lekhpal 2020: सिलेबस

परीक्षा के सिलेबस को जानना हर उम्मीदवार के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। UPSSSC लेखपाल भर्ती परीक्षा में लिखित परीक्षा होगी।UPSSSC लेखपाल 2020 परीक्षा के सिलेबस के 4 भाग होंगे: सामान्य हिंदी, गणित, सामान्य ज्ञान और ग्राम समाज और विकास। प्रत्येक विषय का विस्तृत सिलेबस नीचे दिया गया है:

Click Here To Download the UPSSSC Lekhpal Syllabus PDF

General Hindi Syllabus

अलंकार, अनेकार्थी शब्द वाक्य संशोधन -लिंग, विलोम, रस, लोकोक्तियाँ, पर्यायवाची, संधियां, तद्भव तत्सम, वाक्यांशों के लिए एक शब्द, मुहावरे, समास, कारक, त्रुटि से सम्बंधित, वचन, वर्तनी, काल, Grammar, Vocabulary, Usage of Words.

Mathematics Syllabus

Number System, Percentage, Profit Loss, Statistics, Classification of Facts, Frequency, Frequency Distribution, tabulation, Cumulative Frequency. Formulation of Facts, Bar Chart, Pie Chart, Histogram, Frequency Polygon, Central measurement: Parallel Mean, Median & Mode, LCM & HCF, Relation between LCM & HCF, Simultaneous equations, Quadratic Equations, Factors, Area theorem, Triangle & Pythagoras Theorem, Rectangle, Square, Trapezium, The perimeter & Area of the parallelogram, The perimeter & Area of Circle.

General Knowledge Syllabus

    • General Science, Current Affairs of National & International Importance, Indian Politics & Economics
    • Questions from the events that happen in daily life specially from the perspective of General Science.
    • Indian History: Focus will be on Knowledge of Financial, Social, Religious & Political Parties. Under Indian Freedom Movement knowledge about Nature & Specialty of Indian Freedom Movement, Rise of nationalism & How we get Freedom is expected.
    • World Geography: General Knowledge will be tested about Physical/ Ecology of India, Economical, Social, Demographic Issues.

Rural Development & Rural Society Syllabus: 

    • Rural Administration- Components and Function of Revenue Administration,
    • Revenue Administration – Components and Function
    • Planning for Rural Development – District Planning Machinery, Post 1992 Reforms in District Planning Machinery, People’s Participation and role of NGO’s
    • Indian Rural Society- Nature and Characteristics, Factors of Indian Society, Tribal‐ Rural‐ Urban‐ Rural-Urban continuum, Problems of Weaker Sections‐ Schedule Casts, Schedule Tribe.
    • Rural Institutional Systems- Religious & Cooperation
    • Rural Social Change- a. Sanskritization b. Westernization c. Modernization
    • Sources of Rural Employment- Self Help Group, Swarnajayanti Gram Swarojgar Yojana.

ग्राम विकास के लिए केंद्रीय सरकार की कुछ योजनाएँ:

  • आदर्श ग्राम योजना
  • सहकारी विकास योजना
  • सूखा विकास कार्यक्रम
  • MGNREGA
  • जवाहर ग्राम समृद्धि योजना
  • अन्नपूर्णा योजना
  • अंत्योदय अन्न योजना
  • स्वजल धर योजना
  • राजीव गांधी ग्राम विद्युतीकरण योजना
  • कस्तूरबा गांधी शिक्षा योजना
  • मिड डे मील कार्यक्रम
  • NRLM
  • इंदिरा आवास योजना
  • प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना

ग्राम विकास के लिए राज्य सरकार की कुछ योजनाएँ:

  • किसान पेंशन योजना
  • किसान रथ योजना
  • अंबेडकर उर्जा कृषि सुधर योजना
  • आम आदमी बीमा योजना
  • संजीवनी बीमा योजना
  • आदर्श नगर योजना
  • वन्देमातरम योजना
  • प्रियदर्शनी योजना
  • शुद्ध पेयजल योजना (वर्तमान यूपी सरकार द्वारा संचालित)।
  • पेंशन योजना (वर्तमान यूपी सरकार द्वारा संचालित)।
  • प्रधानमंत्री आवास योजना (वर्तमान यूपी सरकार द्वारा संचालित)।
  • कन्या विद्या धन योजना (वर्तमान यूपी सरकार द्वारा संचालित)।

UPSSSC (UP) लेखपाल सिलेबस: FAQs

Q 1. UPSSSC लेखपाल भर्ती में कितनी रिक्तियां हैं?

Ans. इस वर्ष UPSSSC लेखपाल भर्ती में रिक्तियों की कुल संख्या 5200 है।

Q 2. क्या UPSSSC लेखपाल में कोई नकारात्मक अंकन है?

Ans. हां, गलत उत्तर की स्थिति में प्रश्न के 1/4 अंकों का नकारात्मक अंकन होगा।

Q 3. UPSSSC लेखपाल भर्ती परीक्षा में कौन से विषय हैं?

Ans. UPSSSC लेखपाल भर्ती परीक्षा में हिंदी, गणित, सामान्य ज्ञान और ग्रामीण विकास विषय शामिल हैं।

Q 4. परीक्षा में कितने प्रश्न हैं?

Ans. परीक्षा में प्रत्येक खंड से 25 प्रश्न होंगे।

SSC CPO सिलेबस 2020

कर्मचारी चयन आयोग (SSC) ने SSC CPO 2020 अधिसूचना जारी की है। ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि 16 जुलाई 2020 है। SSC CPO परीक्षा के चार चरण हैं, जिसमें शामिल होने वाले उम्मीदवार को केन्द्रीय पुलिस संगठन के विभिन्न पदों के लिए चयनित किया जाएगा। SSC CPO पेपर 1 परीक्षा 29 सितंबर 2020 से 5 अक्टूबर 2020 तक आयोजित होने वाली है। तैयारी के लिए, पहला और महत्वपूर्ण काम, सिलेबस को समझना होता है। इच्छुक उम्मीदवार विस्तृत SSC CPO सिलेबस को देख सकते हैं और नवीनतम परीक्षा पैटर्न के अनुसार अध्ययन कर सकते हैं। हम SSC CPO 2020 परीक्षा में पूछे जाने वाले महत्वपूर्ण विषयों के साथ पूरा SSC CPO सिलेबस प्रदान कर रहे हैं।

SSC CPO 2020 पेपर I का परीक्षा पैटर्न:

SSC CPO परीक्षा का परीक्षा पैटर्न निम्नानुसार है: 

SSC CPO पेपर-I

Subject Number of Questions Maximum Marks Duration/ Time Allowed
Part A General Intelligence and Reasoning 50 50 Two Hours
Part B General Knowledge and General Awareness 50 50
Part C Quantitative Aptitude 50 50
Part D English Comprehension 50 50
  • इस पेपर में प्रश्न ऑब्जेक्टिव मल्टीपल चॉइस टाइप के होंगे।
  • प्रश्नपत्र I के सेक्शन A, B और C में हिंदी और अंग्रेजी में प्रश्न होंगे।
  •  प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 0.25 अंक की कटौती की जाएगी।

SSC CPO सिलेबस: जनरल इंटेलीजेन्स(सामान्य बुद्धिमता) और रीजनिंग

इसमें अशाब्दिक और शाब्दिक दोनों प्रकार के प्रश्न शामिल होंगे। इसमें निम्नलिखित प्रश्न शामिल हो सकते हैं:

  • Analogies,
  • Similarities and differences,
  • Space visualization, Spatial orientation,
  • Problem solving, analysis, judgment,
  • Decision making, visual memory, discrimination, observation,
  • Relationship concepts,
  • Arithmetical reasoning and figural classification,
  • Arithmetic number series,
  • Non-verbal series,
  • Coding and decoding,
  • Statement conclusion,
  • Syllogistic reasoning etc.
  • Semantic Analogy,
  • Symbolic/ Number Analogy,
  • Figural Analogy,
  • Semantic Classification,
  • Symbolic/ Number Classification,
  • Figural Classification,
  • Semantic Series,
  • Figural Series,
  • Problem Solving,
  • Word Building,
  • Numerical Operations,
  • Symbolic Operations, Trends, Space Orientation, Space Visualization,
  • Venn Diagrams, Drawing inferences,
  • Punched hole/ pattern-folding & un-folding,
  • Figural Patternfolding and completion,
  • Indexing Address matching,
  • Date & city matching
  • Classification of centre codes/ roll numbers,
  • Small & Capital letters/ numbers
  • Embedded Figures,
  • Critical thinking,
  • Emotional Intelligence,
  • Social Intelligence, Other sub-topics if any.

SSC CPO पेपर 1 सिलेबस: सामान्य ज्ञान और सामान्य जागरूकता(General Knowledge and General Awareness)

  • उसके आसपास के वातावरण और समाज के लिए इसके अनुप्रयोग के बारे में सामान्य जागरूकता।
  • वर्तमान घटनाओं और रोजमर्रा की घटनाओं का ज्ञान
  • भारत और उसके पड़ोसी देश; विशेष रूप से इतिहास, संस्कृति, भूगोल, आर्थिक दृश्य, सामान्य राजनीति, भारतीय संविधान, वैज्ञानिक अनुसंधान आदि से संबंधित ज्ञान आपेक्षित हैं।

गणित के लिए SSC CPO 2020 सिलेबस:

  • पूर्ण संख्या, दशमलव, अंश और संख्याओं के बीच संबंध,
  • प्रतिशत,
  • अनुपात और समानुपात,
  • वर्गमूल,
  • औसत,
  • ब्याज,
  • लाभ और हानि, छूट,
  • साझेदारी के व्यवसाय,
  • मिक्सचर और एलीगेशन,
  • समय और दूरी,
  • समय और कार्य,
  • स्कूल स्तर का बेसिक अंकगणितीय सर्वसमिका और प्रारंभिक करणी
  • रेखीय समीकरणों के ग्राफ,
  • त्रिभुज और इसके विभिन्न प्रकार के केंद्र,
  • त्रिभुज की समरूपता और समानता,
  • वृत्त और उसकी जीवा, स्पर्शरेखा, कोण एक वृत्त के जीवा द्वारा बनाया कोण,
  • दो या दो से अधिक वृतों की स्पर्शरेखा,
  • त्रिभुज,
  • चतुर्भुज,
  • समबहुभुज,
  • लम्ब प्रिज्म, लम्ब वृत्तीय शंकु,लम्ब वृत्तीय बेलन
  • गोला, अर्धगोला, आयताकार समानांतर चतुर्भुज, लम्ब पिरामिड
  • त्रिभुजाकर या वर्गाकार आधार,
  • त्रिकोणमितीय अनुपात, डिग्री और रेडियन माप, मानक सर्वसमिका,
  • संपूरक कोण,
  • ऊँचाई और दूरियाँ,
  • आयतचित्र
  • बारंबारता बहुभुज,
  • बार आरेख
  • पाई चार्ट

SSC CPO सिलेबस:अंग्रेज़ी भाषा

उम्मीदवारों की सही अंग्रेजी समझने की क्षमता, उनकी बुनियादी समझ और लेखन क्षमता, आदि का परीक्षण किया जाएगा।

इन पदों के लिए शारीरिक मानक टेस्ट (PST)) अनिवार्य है:

उम्मीदवारों की श्रेणी ऊंचाई (सेमी में) सीना(सेमी में)
बिना फैलाए फैलाने पर
(i) केवल GENERAL पुरुष उम्मीदवारों के लिए 170 80 85
गढ़वाल, कुमाऊँ, हिमाचल प्रदेश, गोरखाओं, डोगरा, मराठा, कश्मीर घाटी, जम्मू और कश्मीर, पूर्वोत्तर राज्यों और सिक्किम के लद्दाख क्षेत्रों के पहाड़ी क्षेत्रों से संबंधित उम्मीदवारों के लिए 165 80 85
अनुसूचित जनजाति के सभी उम्मीदवारों के लिए 162.5 77 82
(ii)केवल GENERAL महिला उम्मीदवारों के लिए 157
गढ़वाल, कुमाऊँ, हिमाचल प्रदेश, गोरखाओं, डोगरा, मराठों, कश्मीर घाटी, जम्मू और कश्मीर, पूर्वोत्तर राज्यों और सिक्किम के लद्दाख क्षेत्रों के पहाड़ी क्षेत्रों से संबंधित उम्मीदवारों के लिए 155
अनुसूचित जनजाति से संबंधित सभी उम्मीदवारों के लिए 154

शारीरिक दक्षता टेस्ट (PET) (सभी पदों के लिए)

केवल वे अभ्यर्थी, जिन्होंने पेपर I में आयोग द्वारा निर्धारित कट ऑफ अंक से ऊपर अंक हासिल किए हैं, उन्हें शारीरिक योग्यता परीक्षा में उपस्थित होना आवश्यक है।
केवल पुरुष उम्मीदवारों के लिए

  • 16 सेकंड में 100 मीटर की दौड़
  • 6.5 मिनट में 1.6 किलोमीटर दौड़
  • लॉन्ग जंप: 3 चांस में 3.65 मीटर
  • उच्च कूद: 3 चांस में 1.2 मीटर
  • शॉट पुट (16 LBs): 3 चांस में 4.5 मीटर

केवल महिला उम्मीदवारों के लिए

  • 18 सेकंड में 100 मीटर की दौड़
  • 4 मिनट में 800 मीटर की दौड़
  • लंबी कूद: 3 चांस में 2.7 मीटर (9 फीट)।
  • उच्च कूद: 3 चांस में 0.9 मीटर (3 फीट)।

नोट: केवल उन्हीं उम्मीदवारों को PET / PST में योग्य घोषित किया जाएगा जिन्हें पेपर – II के लिए बुलाया जाएगा और बाद में मेडिकल परीक्षा आयोजित की जाएगी।

SSC CPO पेपर-2

                     विषय अधिकतम अंक /प्रश्न अवधि
English language & Comprehension 200 अंक/200 प्रश्न दो घंटा
  • इस पेपर में प्रश्न ऑब्जेक्टिव मल्टीपल चॉइस टाइप के होंगे।
  • प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 0.25 अंक की कटौती की जाएगी।

SSC CPO सिलेबस:  पेपर-II 

इस सेक्शन के प्रश्नों को उम्मीदवार की अंग्रेजी भाषा की समझ और ज्ञान का परीक्षण करने के लिए डिज़ाइन किया जाएगा और यह निम्नलिखित पर आधारित होगा:

  • Error recognition,
  • Filling in the blanks (using verbs, preposition, articles etc),
  • Vocabulary,
  • Spellings,
  • Grammar,
  • Sentence Structure,
  • Synonyms,
  • Antonyms,
  • Sentence Completion,
  • Phrases and Idiomatic use of Words,
  • Comprehension etc.

चिकित्सा परीक्षण

  • PET में अर्हता प्राप्त करने वाले सभी उम्मीदवारों की CAPF के चिकित्सा अधिकारी या किसी भी केंद्रीय/राज्य सरकारी अस्पताल या औषधालय के ग्रेड I से संबंधित किसी अन्य चिकित्सा अधिकारी या सहायक सर्जन द्वारा चिकित्सकीय जांच की जाएगी।
  • जो उम्मीदवार अनफिट पाए जाते हैं, उन्हें पद के बारे में सूचित किया जाएगा और वे 15 दिनों की निर्धारित समय सीमा के भीतर समीक्षा मेडिकल बोर्ड के समक्ष अपील कर सकते हैं।
  • री-मेडिकल बोर्ड / समीक्षा मेडिकल बोर्ड का निर्णय अंतिम होगा और रि-मेडिकल बोर्ड/समीक्षा मेडिकल बोर्ड के निर्णय के खिलाफ किसी अपील पर विचार नहीं किया जाएगा।

फाइनल चयन / मेरिट

लिखित परीक्षा और शारीरिक दक्षता परीक्षा में उम्मीदवारों द्वारा प्राप्त अंकों के आधार पर मेरिट सूची तैयार की जाएगी।

नेत्र-दृष्टि(Eye sight)

  • न्यूनतम दूर दृष्टि दो आंखों के 6/6 और 6/9 होनी चाहिए यानी बिना चश्मा पहने।
  • अभ्यर्थी के पास घुटने, फ्लैट पैर, वैरिकाज़ नस या स्क्विंट आंखों में नहीं होना चाहिए और उनके पास उच्च रंग पहचानने की दृष्टि होनी चाहिए।

SSC CPO सिलेबस FAQs

Q. SSC CPO क्या है?
SSC CPO का मतलब कर्मचारी चयन आयोग केंद्रीय पुलिस संगठन है।
Q. SSC CPO के तहत कौन से पद आते हैं?
SSC CPO के पदों में CAPF में उप-निरीक्षक (GD) और दिल्ली पुलिस में उप-निरीक्षक (कार्यकारी) शामिल हैं।
Q. SSC CPO में कितने चरण होते हैं?
SSC CPO परीक्षा में 4 चरण हैं।
Q. क्या SSC CPO में कोई साक्षात्कार है?
नहीं, SSC CPO में कोई साक्षात्कार नहीं है।
Q. SSC CPO 2020 परीक्षा के लिए चयन प्रक्रिया क्या है?
चयन प्रक्रिया में पेपर 1, फिजिकल टेस्ट, पेपर 2 और मेडिकल परीक्षा शामिल हैं।

UPSC EPFO सिलेबस 2020:संघ लोक सेवा आयोग 4 अक्टूबर 2020 को EPFO प्रवर्तन अधिकारी भर्ती परीक्षा आयोजित करेगा। परीक्षा की तैयारी शुरू करने के लिए, विस्तृत यूपीएससी EPFO परीक्षा पैटर्न और EPFO सिलेबस 2020 जानना चाहिए।

चयनित होने के बाद, आपको 7 वें केंद्रीय वेतन आयोग के अनुसार लेवल -8 पे मैट्रिक्स में भर्ती किया जाएगा। UPSC ने EPFO में प्रवर्तन अधिकारी/लेखा अधिकारी की 421 रिक्तियों को जारी किया था। साक्षात्कार के लिए उम्मीदवारों को शॉर्टलिस्ट करने के लिए यूपीएससी द्वारा लिखित परीक्षा आयोजित की जाएगी। परीक्षा के लिए शामिल होने के लिए, परीक्षा पैटर्न और सिलेबस को विस्तार से जानना आवश्यक है।

UPSC EPFO प्रवर्तन अधिकारी चयन प्रक्रिया 2020:-

प्रवर्तन अधिकारी के पद के लिए UPSC EPFO परीक्षा 4 अक्टूबर 2020 को आयोजित होने वाली है। EPFO में प्रवर्तन अधिकारी/लेखा अधिकारी की भर्ती के लिए चयन प्रक्रिया में 2 चरण हैं:

  1. पेन और पेपर आधारित भर्ती परीक्षा(RT)
  2. साक्षात्कार

उम्मीदवारों को भर्ती परीक्षा में प्राप्त अंकों के आधार पर साक्षात्कार के लिए शॉर्टलिस्ट किया जाएगा। शॉर्टलिस्ट किए गए उम्मीदवारों को आवेदन पत्र के अनुसार अपने दावे के समर्थन में दस्तावेज जमा करने होंगे। उनके दस्तावेजों की जांच की जाएगी और जो उम्मीदवार पदों की सभी पात्रता शर्तों को पूरा करेंगे, उन्हें साक्षात्कार के लिए बुलाया जाएगा।

प्रक्रिया वेटेज(अधिभार)
भर्ती परीक्षा (RT) 75
साक्षात्कार 25


UPSC EPFO
परीक्षा पैटर्न 2020:-

UPSC EPFO भर्ती परीक्षा (RT) पेन और पेपर-आधारित होगी और भर्ती परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले उम्मीदवार, साक्षात्कार के लिए पात्र होंगे। साक्षात्कार से सम्बन्धित तारीख और अन्य विवरण आधिकारिक वेबसाइट पर निश्चित समय में घोषित किए जाएंगे। परीक्षा स्कीम के अनुसार परीक्षा में बहुविकल्पीय प्रश्न शामिल होंगे:

  • टेस्ट वस्तुनिष्ठ प्रकार के प्रश्नों पर आधारित होगा जिसमें उत्तर के कई विकल्प होंगे।
  • परीक्षा पैटर्न के अनुसार, सभी प्रश्न समान अंक के होंगे।
  • परीक्षा की अवधि 2-घंटे की होगी।
  • भर्ती परीक्षा द्विभाषी अर्थात्:- हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में होंगी।
  • गलत जवाब देने पर नकारात्मक अंक मिलेंगे।
  • प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 1/3 का नकारात्मक अंकन होगा।

 उम्मीदवार का अंतिम चयन भर्ती परीक्षा और साक्षात्कार में प्राप्त अंकों के आधार पर होगा।


UPSC
EPFO सिलेबस 2020

आपको परीक्षा में पूछे जाने वाले सभी टॉपिक को जानना चाहिए। भर्ती परीक्षा के लिए UPSC EPFO सिलेबस में मोटे तौर पर निम्नलिखित टॉपिक शामिल हैं: –

भर्ती परीक्षा में पूछे जाने वाले टॉपिक
General English Indian Freedom Struggle
Current Events and Developmental Issues Indian Polity
General Accounting Principles Industrial Relations & Labour Laws
General Science Knowledge of Computer applications
Indian Economy General Mental Ability
Quantitative Aptitude Social Security in India
S.No. Subject Topics
1 General English
  • Vocabulary Usage
  • Synonyms
  • Antonyms
  • Grammar Usage
  • Comprehension, etc.
2 Indian Freedom Struggle
  • Revolt of 1857 – First War of Independence Against British Causes of the Rise of Indian National Movement
  • Indian Nationalism – The Moderate Phase
  • Morley-Minto Reforms
  • Partition of Bengal 1905
  • Indian National Movement – Extremist Period
  • Important Indian Freedom Fighter
  • Revolutionaries in the Indian Freedom Movement
  • The Rise of Gandhi in Indian Freedom Struggle
  • The Rowlatt Act and the Jallianwala Bagh Massacre
  • The Lucknow Pact, 1916
  • Non-Cooperation Movement
  • Home Rule Movement
  • Salt Satyagraha
  • Moplah Rebellion of 1921
  • Simon Commission
  • Swaraj Party
  • First Round Table Conference 1930
  • Poona Pact
  • Quit India Movement
  • Indian National Congress Sessions
  • Indian Independence Act 1947
3 Current Events and Developmental Issues
  • Current Affairs (National & International)
  • Sports
  • Awards and their importance
  • Politics
  • Finance and Banking sector
  • Population Census
  • Important Books and their writers
  • State Animals and Symbols
  • Name of the Scientist who got Noble prize for important discoveries
  • Important Days
  • Important Inventions and their inventor
4 Indian Polity & Economy
  • Supreme Court; Meaning of Write
  • Election of President and his functions
  • Important constitution bodies like CAG
  • Facts about parliament
  • Fundamental Duties
  • Governor and his functions
  • State legislature
  • Major Constitutional amendments and their importance
  • Official Language
  • Emergency Provisions
  • National political parties and their symbols
5 General Accounting Principles

Accounting Concepts

  • Realisation Concept
  • Separate Entity Concept
  • Going Concern Concept
  • Money Measurement Concept
  • Dual Aspect Concern
  • Cost Concept
  • Accounting Period Concept
  • Matching Concept

Accounting Conventions

  • Consistency
  • Full Disclosure
  • Conservatism
  • Materiality
6 Industrial Relations & Labour Laws

Labour Laws

  • About,
  • Types
  • Areas implemented
  • sectors applicable
  • overview

Industrial Relations

  • Industrial relations code (IRC) Bill
  • Model of labour reforms.
7 General Science & Knowledge of Computer applications
  • Biology: Important and Interesting facts about human body parts, Nutrition in Animals and Plants, Diseases and their causes like Bacteria;
  • Physics: S.I. units, Motion, Sound, Light, Wave, Energy, Electricity;
  • Chemistry: Chemical Properties of Substance and their uses, Chemical Name of Important substances like Plaster of Paris, etc., Chemical Change and Physical Change, Properties of Gases, Surface Chemistry, Chemistry in Everyday life;
  • Daily Science: Development of computers; Input and Output Devices; Memory; MS Office; Internet
8 General Mental Ability & Quantitative Aptitude
  • General Mental Ability – Sequence of figures, Series, Blood Relations, Directions, Syllogism, Seating Arrangement, Puzzle Test, Statement and Conclusion, Statement and Inferences, Data sufficiency
  • Quantitative Aptitude – Algebra, HCF and LCM, Average, Mixtures and Alligation, Ratio and Proportion, Partnership, Percentage and its application, Simple Interest, Compound Interest, Profit and Loss, Time and Work, Time, Speed and Distance, Problems Based on Ages, Calendar and Clock, Probability, Permutations and Combinations
9 Social Security in India
  • Status of Social security in India
  • Social security schemes for Unorganised Sector
  • New Social Security Schemes launched covering social insurances like Pension
  • Health Insurance and Medical Benefit
  • Disability Benefit, Maternity Benefit
  • Gratuity
  • Employees’ Provident Fund Organization (EPFO)
  • Employees’ State Insurance Corporation (ESIC)
  • Atal Pension Yojna (APY)
  • Pradhan Mantri Jeevan Jyoti Bima Yojana (PMJJBY); Pradhan Mantri Suraksha Bima Yojana (PMSBY)
  • Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi (PM-KISAN) Yojana
  • Pradhan Mantri Kisan Mandhan Yojana, etc.

UPSC EPFO इनफ़ोर्समेंट ऑफिसर:चयन के लिए मापदंड

  • उम्मीदवार को अपनी श्रेणी के अनुसार भर्ती परीक्षा के साथ-साथ साक्षात्कार’ में उपयुक्तता के न्यूनतम अंक को प्राप्त करनी होगी।
  • RT के मामले में उपयुक्तता का न्यूनतम अंक आयोग द्वारा स्थिति अनुसार तय किया जाएगा।
  • साक्षात्कारों में आवश्यक श्रेणी-वार न्यूनतम अंक, भले ही चयन केवल साक्षात्कार के द्वारा किया गया हो या भर्ती परीक्षा के बाद साक्षात्कार द्वारा हो, निम्नलिखित होंगे:
कैटेगरी न्यूनतम आवश्यक अंक
(100 में से)
UR 50 अंक
OBC 45 अंक
SC/ST/PH 40 अंक

 

सामान्यतः पूछे जाने वाले प्रश्न:-

Q. क्या ईपीएफओ प्रवर्तन अधिकारी और लेखा अधिकारी परीक्षा में कोई नकारात्मक अंकन है?

Ans. हां, निगेटिव मार्किंग है। प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 1/3 का नकारात्मक अंकन होगा।

Q. UPSC EPFO भर्ती परीक्षा की समय अवधि क्या है?

Ans. UPSC EPFO भर्ती परीक्षा की कुल समय अवधि 2 घंटे है।

Q. UPSC EPFO 2020 की चयन प्रक्रिया क्या है?

UPSC EPFO परीक्षा 2020 के लिए चयन प्रक्रिया में लिखित परीक्षा के बाद साक्षात्कार होंगे।

Are You Preparing for UPSC EPFO 2020? Register Here For Free Study Material


RRB Group D Syllabus 2020: रेलवे सभी युवा उम्मीदवारों के लिए रेलवे में एक कर्मचारी के रूप में काम करने का एक बड़ा अवसर लाया है, जिसमें ग्रुप D पदों के लिए कुल 1,03,769 रिक्तियों हैं। इस भर्ती में विभिन्न स्तर 1 पद जैसे कि ट्रैक मेंटेनर ग्रेड- IV, विभिन्न तकनीकी विभागों (इलेक्ट्रिकल, मैकेनिकल और एस एंड टी विभागों) में हेल्पर/सहायक, असिस्टेंट पॉइंट्स मैन आदि शामिल हैं। 10 वीं कक्षा की न्यूनतम योग्यता वाले उम्मीदवार आवेदन करने के लिए पात्र थे। इस पोस्ट में, हम RRC ग्रुप D सिलेबस के बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे, जो लंबे समय तक उम्मीदवारों की मदद करेगा।

RRC Group D चयन प्रक्रिया

RRC ग्रुप D भर्ती प्रक्रिया में परीक्षा के निम्नलिखित चरण शामिल होंगे:

  • कंप्यूटर आधारित टेस्ट (CBT)
  • शारीरिक दक्षता परीक्षा (PET)
  • दस्तावेज़ सत्यापन और चिकित्सा

RRC Group D CBT परीक्षा पैटर्न

सभी उम्मीदवारों को RRC ग्रुप-D परीक्षा 2020 के लिए बहुवैकल्पिक प्रश्नों के साथ कंप्यूटर आधारित परीक्षा से गुजरना होगा, जिसकी परीक्षा अवधि और CBT के लिए प्रश्नों की संख्या नीचे दी गई है:

Subjects No. Of Questions Marks Duration
1 General Science 25 25 90 Minutes
2 Mathematics 25 25
3 General Intelligence & Reasoning 30 30
4 General Awareness On Current Affairs 20 20
Total 100 100

RRC Group D Syllabus in detail

प्रश्न कई विकल्पों के साथ वस्तुनिष्ठ प्रकार के होंगे और 10 वीं कक्षा के स्तर पर आधारित होंगे।

RRC Group D Syllabus: Mathematics 

  • Number system
  • BODMAS,
  • Decimals,
  • Fractions,
  • LCM & HCF,
  • Ratio and Proportion,
  • Percentages,
  • Mensuration,
  • Time and Work,
  • Time and Distance,
  • Simple and Compound Interest,
  • Profit and Loss,
  • Algebra,
  • Geometry and Trigonometry,
  • Elementary Statistics,
  • Square root,
  • Age Calculations,
  • Calendar & Clock,
  • Pipes & Cistern etc.

RRC Group D Syllabus: General Intelligence and Reasoning

  • Analogies,
  • Alphabetical and Number Series,
  • Coding and Decoding,
  • Mathematical operations,
  • Relationships,
  • Syllogism,
  • Jumbling,
  • Venn Diagram,
  • Data Interpretation and Sufficiency,
  • Conclusions and Decision making,
  • Similarities and Differences,
  • Analytical Reasoning,
  • Classification,
  • Directions,
  • Statement – Arguments and Assumptions etc.

RRC Group D Syllabus:  General Science

RRC Group D Syllabus for General Science 10 वीं कक्षा के CBSE स्तर पर आधारित है और इसलिए नीचे दिए गए विषय पूछे जाने की संभावना है:
Physics

  • Units and measurements
  • Force and Laws of Motion
  • Work, Energy and Power
  • Gravitation
  • Pressure
  • Sound
  • Waves
  • Heat
  • Friction
  • Light- Reflection and Refraction
  • Current Electricity
  • Magnetism
  • Magnetic Effects of Electric Current
  • Scientific Instruments
  • Inventions
  • Important Discoveries Relating to Physics
  • Sources of Energy


Chemistry

  • Matter
  • Atoms and Molecules
  • Structure of Atom
  • Chemical Reactions and Equations
  • Periodic Classification of Elements
  • Chemical Bonding
  • Oxidation & Reduction
  • Combustion and Flame
  • Acids, Bases & Salts
  • Electrolysis
  • Carbon & its Compounds
  • Fuels
  • Metallurgy
  • Synthetic fibers and Plastics
  • Metals & Non-Metals
  • Common Facts and discoveries in chemistry

Life Sciences

  • Introduction
  • Classification of Organism
  • Cytology
  • Genetics
  • Heredity and Evolution
  • Botany: Classification of Plant Kingdom, Plant Morphology, Plant Tissue, Photo-synthesis, Plant Hormones, Plant Diseases
  • Ecology & Environment
  • Pollution
  • Zoology: Classification of Animal Kingdom, Animal Tissue, Human Blood, Organ & Organ System, Human blood and blood groups
  • Human Eye
  • Nutrients
  • Human Diseases
  • Natural Resources

RRC Group D Syllabus:  General Awareness

RRC Group D की आधिकारिक अधिसूचना में दिए गए सामान्य जागरूकता RRC Group D Syllabus निम्नानुसार है:

  • Current affairs in Science & Technology,
  • Sports,
  • Culture,
  • Personalities,
  • Economics,
  • Politics and any other subject of importance.

Click here to get Best Study Material For Railway Exam 2020

Important Links: 

बिहार अमीन परीक्षा पैटर्न और सिलेबस 2020: बिहार संयुक्त प्रवेश प्रतियोगी परीक्षा बोर्ड (BCECEB) ने बिहार अमीन परीक्षा 2020 को अपरिहार्य कारणों से स्थगित कर दिया गया है। उम्मीद है कि बोर्ड जल्द ही नई तारीखें जारी करेगा। परीक्षा में शामिल होने से पहले उम्मीदवारों को बिहार अमीन 2020 परीक्षा के परीक्षा पैटर्न और सिलेबस पता होना चाहिए। अमीन के रूप में भर्ती होने के लिए, लिखित परीक्षा में लगभग 18000 उम्मीदवार उपस्थित होंगे। चूंकि परीक्षा स्थगित कर दी गई है, इसलिए उम्मीदवारों के पास तदनुसार तैयारी करने का समय है।
बिहार अमीन कंप्यूटर-आधारित परीक्षा के लिए उम्मीदवारों का चयन उनके शैक्षणिक योग्यता और आवेदन पत्र में उल्लिखित अनुभव के आधार पर किया जाएगा। बोर्ड द्वारा जल्द ही नई परीक्षा तिथि घोषित की जाएगी। उम्मीदवार इस पोस्ट में बिहार अमीन परीक्षा 2020 के विस्तृत परीक्षा पैटर्न और सिलेबस को देख सकते हैं।
 बिहार अमीन चयन प्रक्रिया 2020

बिहार अमीन भर्ती 2020 की चयन प्रक्रिया नीचे दी गयी 3 चरण में होंगी।

  1. CBT के लिए अभ्यर्थियों का चयन
  2. कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट
  3. इंटरव्यू

 बिहार अमीन कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट 2020 का परीक्षा पैटर्न

बिहार अमीन लिखित परीक्षा में बहुविकल्पीय प्रश्नों के साथ कंप्यूटर आधारित परीक्षा होगी। प्रश्नों के अंको का विषयवार वितरण, नीचे दी गई तालिका में दी गयी है। उम्मीदवारों को परीक्षा में 2 घंटे 15 मिनट की अवधि में प्रश्न हल करने होंगे।

भाग विषय प्रश्न अंक अवधि
भाग 1 सामान्य अध्ययन
करंट अफेयर
सामान्य विज्ञान
सामान्य हिंदी
50 प्रश्न 50 अंक 2 घंटा
15 मिनट
भाग 2 सामान्य गणित 25 प्रश्न 25 अंक
कुल 75 प्रश्न 75 अंक

 

  • प्रश्न इंटरमीडिएट स्तर के होंगे और प्रत्येक प्रश्न 1 अंक का होगा।
  • प्रश्न द्विभाषी होंगे।
  • कुल 75 प्रश्न पूछे जायेंगे।
  • कुल अवधि 2 घंटे 15 मिनट होगी।

बिहार अमीन सिलेबस 2020

बिहार अमीन के सामान्य अध्ययन, करंट अफेयर्स, सामान्य विज्ञान, सामान्य हिंदी और सामान्य गणित का सिलेबस नीचे दिया गया है। बिहार अमीन 2020 परीक्षा के सिलेबस के बारे में विस्तार से जाने और CBT की तैयारी शुरू करें।

बिहार अमीन सामान्य ज्ञान सिलेबस 2020

बिहार अमीन परीक्षा 2020 के लिए सामान्य ज्ञान पाठ्यक्रम में भारत और बिहार का इतिहास, संस्कृति, भूगोल, अर्थशास्त्र शामिल हैं। नीचे सामान्य ज्ञान के विषयवार सिलेबस देखें

Indian Republic Indian Constitution
and Political system
of India
Main features of History/ Culture/ Geography/ Economics Scenario/ Agriculture and Natural resources of India and Bihar

  • Indian History
  • Indian Culture
  • Freedom Movement of India
  • Indian Geography & Natural Resources
  • Indian Agriculture & Economy
  • History of Bihar
  • Culture of Bihar
  • Bihar’s contribution in Freedom Movement of
  • India
  • Bihar related Geography and Natural
  • Resources
  • Bihar related Agriculture and Economy
  • India’s Natural Resources
  • Constitution & Political system of India
  • Origin and Development of India’s
  • Constitution and Political System.
  • Panchayati Raj
  • Community Development

 
बिहार अमीन करंट अफेयर्स सिलेबस 2020

बिहार, भारत और अंतर्राष्ट्रीय घटनाओं के वर्तमान मामलों और समकालीन विषयों को बिहार अमीन 2020 परीक्षा में पूछा जाएगा। आधिकारिक अधिसूचना में दिए गए सिलेबस निम्नलिखित है:

  • International and National Events
  • National and International Awards
  • Sports And Sports Personality
  • Scientific development
  • Other topics related to current affairs

बिहार अमीन सामान्य विज्ञान सिलेबस 2020

बिहार अमीन के जनरल साइंस में फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी के सवाल होंगे। अभ्यर्थी इन वर्गों से पूछे जाने वाले विषयों को नीचे देख सकते हैं:

भौतिकी रसायन जीवविज्ञान
  • प्रकाश: प्रकाश के परावर्तन और अपवर्तन के अनुप्रयोग,  उत्तल और अवतल लेंस/दर्पण का उपयोग
  • विधुत: प्रतिरोध श्रृंखला,
    वोल्टमीटर, आमीटर, ट्रांसफार्मर, रेक्टिफायर, AC और DC धारा
  • बल  तथा गति: बल के प्रकार, और न्यूटन के गति के नियम के अनुप्रयोग
  • कार्य, उर्जा, शक्ति: उर्जा के प्रकार, उर्जा का रूपांतरण
  • ध्वनि: ध्वनि और इसकी विशेषताएं
  • अम्ल, भस्म, तथा लवण
  • कार्बन और इसके यौगिक
  • अणु और परमाणु
  • परमाणु की संरचना
  • नियंत्रण और समन्वय
  • जीव की मौलिक इकाई (कोशिका )
  • रोग और इसके कारण


बिहार अमीन सामान्य हिंदी सिलेबस 2020

बिहार अमीन के लिए सामान्य हिंदी में मुख्य रूप से हिंदी व्याकरण शामिल है और इसमें शामिल विषय नीचे दिए गए हैं:

  • शब्दपद, क्रियाभेद
  • मिश्र और संयुक्त वाक्य
  • वाक्यों का रूपांतरण
  • अलंकार
  • समास
  • स्वर संधि
  • मुहावरे और लोकोक्तियाँ
  • अशुद्ध  वाक्य शोधन

बिहार अमीन सामान्य गणित सिलेबस 2020

बिहार अमीन लिखित परीक्षा में गणित खंड में 25 प्रश्न होंगे और उन्हें पूरी तरह से तैयार किया जाना चाहिए। बिहार अमीन सामान्य गणित के विषयवार सिलेबस नीचे तालिका में दी गई है:

Topics Sub-Topics
Number System Basics of Number System
Simplification
HCF/LCM
Time & Work Basic question of time and work
Pipes and Cisterns (Easy ones)
Mensuration Perimeter
Areas
Volumes
Ratio and Proportion Ratio
Proportion
Geometry Circles
Triangles
Quadrangles
Average Basic questions of averages
Profit and Loss, Discount Relation of SP and CP
Relation SP and MP
Discount
Percentage Basics of percentages
Percentage Change
Time and Distance Average Speed
Relative Speed
Boats, Trains & Platforms
Simple and Compound
Interest
Simple Interest
Compound Interest


Bihar Amin Preparation Strategy: Study Plan of 90 Days | Click here

Bihar Amin Recruitment 2020

UPSC IAS Syllabus 2020: संघ लोक सेवा आयोग ने भारतीय प्रशासनिक सेवा, भारतीय पुलिस सेवा, राजस्व सेवाओं, आदि की भर्ती के लिए सिविल सेवा परीक्षा 2020 की अधिसूचना जारी की है। इसे पूरे भारत में लाखों उम्मीदवारों द्वारा क्रैक करने वाली सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक माना जाता है। UPSC IAS परीक्षा 2020 क्रैक करने के लिए पूरा सिलेबस क्या है और आपको क्या क्या पढ़ना चाहिए?

IAS परीक्षा की तैयारी के लिए आपको विषयवार UPSC सिलेबस को पूरी तरह से जानना चाहिए। परीक्षा में 3 चरण शामिल हैं, प्रारंभिक परीक्षा, उसके बाद मेंस परीक्षा और फिर इंटरव्यू। इस पोस्ट में आपको प्रारंभिक और मेंस परीक्षा का विषय-वार UPSC सिलेबस दिया गया है।

UPSC IAS Cut Off Prelims & Mains

UPSC IAS Syllabus – UPSC IAS Prelims Syllabus 2020

UPSC IAS के लिए प्रारंभिक परीक्षा में 200 अंकों के लिए 2 अनिवार्य पेपर होते हैं। प्रीलिम्स केवल स्क्रीनिंग के लिए है। पेपर 1 में स्कोर किए गए अंकों को मेन्स के लिए छात्रों का चयन करने के लिए गिना जाएगा, जबकि आपको CSAT उत्तीर्ण करना होगा, जिसमें न्यूनतम योग्यता अंक 33% निर्धारित किये गये हैं

Paper Subject Marks Duration
Paper 1 General Studies (GS) 200 marks 2 Hours
Paper 2 Aptitude Test 200 marks 2 Hours


UPSC IAS 2020 Exam: Syllabus, Eligibility, Age Limit, Exam Dates, Exam Pattern

UPSC IAS Paper 1 Syllabus 2020

200 अंकों के लिए पेपर 1 में करेंट अफेयर्स, इतिहास, भूगोल, राजनीति, अर्थशास्त्र आदि के आधार पर वस्तुनिष्ठ प्रकार के बहुविकल्पीय प्रश्न होंगे। महत्वपूर्ण विषयों सहित विषय वार UPSC सिलेबस नीचे दिया गया है:

UPSC IAS Paper 1- General Studies Syllabus
Current events of national and international importance History of India and Indian National Movement
Indian Geography
Physical, Social, Economic Geography of India
Indian Polity and Governance
Constitution, Political System, Panchayati Raj, Public Policy, Rights Issues, etc
World Geography
Physical, Social, Economic Geography of the World
General issues on Environmental ecology
Bio-diversity and Climate Change
Economic and Social Development
Sustainable Development, Poverty, Inclusion, Demographics, Social Sector Initiatives
General Science


UPSC IAS Paper 2 Syllabus 2020

पेपर 2 केवल क्वालीफाइंग है और आपको इसे क्वालीफाई करने के लिए 33% अंक प्राप्त करने की आवश्यकता है। IAS सिलेबस का उल्लेख नीचे किया गया है। इस पेपर को क्वालिफाई करने के लिए आपको निम्न टॉपिक पढ़ने की आवश्यकता है:

  • Comprehension;
  • Interpersonal skills including communication skills;
  • Decision making and problem-solving;
  • Logical reasoning and analytical ability;
  • General mental ability;
  • Basic numeracy (numbers and their relations, orders of magnitude, etc.) (Class X level),
  • Data interpretation (charts, graphs, tables, data sufficiency, etc.

UPSC IAS Syllabus- UPSC IAS Mains Syllabus 2020

मेंस परीक्षा में कुल 9 पेपर के साथ सब्जेक्टिव प्रकार के प्रश्न होते हैं। 2 पेपर क्वालिफ़ाइंग हैं, जबकि 7 पेपर में प्राप्त अंकों को अंतिम मेरिट तैयार करने के लिए जोड़ा जाएगा। प्रत्येक पेपर 3 घंटे की अवधि का होगा। प्रश्न पत्र (भाषा पत्रों के साहित्य को छोड़कर) केवल हिंदी और अंग्रेजी में सेट किए जाएंगे। मेन्स परीक्षा के पेपर देखें:

Paper Subject Marks
Paper-A
(Qualifying)
One of the Indian Language to be selected by the candidate 300 marks
Paper-B
(Qualifying)
English 300 marks
Paper-I Essay 250 Marks
Paper-II
General Studies-I
Indian Heritage and Culture, History and Geography of the World and Society 250 Marks
Paper-III
General Studies -II
Governance, Constitution, Polity, Social Justice and International relations 250 Marks
Paper-IV
General Studies -III
Technology, Economic Development, Bio-diversity, Environment, Security and Disaster Management 250 Marks
Paper-V
General Studies -IV
(Ethics, Integrity, and Aptitude)- 250 Marks 250 Marks
Paper-VI Optional Subject Paper 1 250 Marks
Paper-VII Optional Subject Paper 2 250 Marks


List of optional subjects for Main Examination :

(i) Agriculture
(ii) Animal Husbandry and Veterinary Science
(iii) Anthropology
(iv) Botany
(v) Chemistry
(vi) Civil Engineering
(vii) Commerce and Accountancy
(viii) Economics
(ix) Electrical Engineering
(x) Geography
(xi) Geology
(xii) History
(xiii) Law
(xiv) Management
(xv) Mathematics
(xvi) Mechanical Engineering
(xvii) Medical Science
(xviii) Philosophy
(xix) Physics
(xx) Political Science and International Relations
(xxi) Psychology
(xxii) Public Administration
(xxiii) Sociology
(xxiv) Statistics
(xxv) Zoology
(xxvi) The literature of any one of the following languages:
Assamese, Bengali, Bodo, Dogri, Gujarati, Hindi, Kannada, Kashmiri, Konkani, Maithili, Malayalam, Manipuri, Marathi, Nepali, Odia, Punjabi, Sanskrit, Santhali, Sindhi, Tamil, Telugu, Urdu and English.

PAPER-I Essay Syllabus

  • उम्मीदवारों को कई टॉपिक पर निबंध लिखने की आवश्यकता हो सकती है।
  • उनसे अपने विचारों को व्यवस्थित ढंग से और संक्षिप्त रूप से लिखने के लिए निबंध के विषय के करीब रखने की उम्मीद की जाएगी।
  • प्रभावी और सटीक अभिव्यक्तिवादी के लिए क्रेडिट दिया जाएगा और आपको स्वयं को सीमित नहीं करना चाहिए क्योंकि दिए गए विषयों पर ध्यान केंद्रित करते हुए प्रश्न कहीं से भी पूछे जा सकते हैं।
  • करंट अफेयर्स से संबंधित प्रमुख क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करने वाला स्मार्ट अध्ययन UPSC IAS 2020 परीक्षा की तैयारी के दौरान एक महत्वपूर्ण बिंदु है।

PAPER-II- General Studies-I: Indian Heritage and Culture, History and Geography of the World and Society

  • Indian culture will cover the salient aspects of Art Forms, literature and Architecture from ancient to modern times.
  • Modern Indian history from about the middle of the eighteenth century until the present significant events, personalities, issues.
  • The Freedom Struggle — its various stages and important contributors/contributions from different parts of the country.
  • Post-independence consolidation and reorganization within the country.
  • History of the world will include events from the 18th century such as industrial revolution, world wars, redraw of national boundaries, colonization, decolonization, political philosophies like communism, capitalism, socialism etc.— their forms and effect on the society.
  • Salient features of Indian Society, Diversity of India.
  • Role of women and women’s organization, population and associated issues, poverty and
    developmental issues, urbanization, their problems and their remedies.
  • Effects of globalization on Indian society.
  • Social empowerment, communalism, regionalism & secularism.
  • Salient features of world’s physical geography.
  • Distribution of key natural resources across the world (including South Asia and the Indian sub-continent); factors responsible for the location of primary, secondary, and tertiary sector industries in various parts of the world (including India).
  • Important Geophysical phenomena such as earthquakes, Tsunami, Volcanic activity, cyclone etc., geographical features and their location-changes in critical geographical features (including water-bodies and ice-caps) and in flora and fauna and the effects of such changes.

PAPER-III- General Studies- II: Governance, Constitution, Polity, Social Justice and International relations.

  • Indian Constitution—historical underpinnings, evolution, features, amendments, significant provisions and basic structure.
  • Functions and responsibilities of the Union and the States, issues and challenges pertaining to the federal structure, devolution of powers and finances up to local levels and challenges therein.
  • Separation of powers between various organs dispute redressal mechanisms and institutions.
  • Comparison of the Indian constitutional scheme with that of other countries.
  • Parliament and State legislatures—structure, functioning, conduct of business, powers &
    privileges and issues arising out of these.
  • Structure, organization and functioning of the Executive and the Judiciary—Ministries and Departments of the Government; pressure groups and formal/informal associations and their role in the polity.
  • Salient features of the Representation of People’s Act.
  • Appointment to various Constitutional posts, powers, functions and responsibilities of
    various Constitutional Bodies.
  • Statutory, regulatory and various quasi-judicial bodies.
  • Government policies and interventions for development in various sectors and issues arising out of their design and implementation.
  • Development processes and the development industry —the role of NGOs, SHGs, various
    groups and associations, donors, charities, institutional and other stakeholders.
  • Welfare schemes for vulnerable sections of the population by the Centre and States and the performance of these schemes; mechanisms, laws, institutions and Bodies constituted for the protection and betterment of these vulnerable sections.
  • Issues relating to development and management of Social Sector/Services relating to Health, Education, Human Resources.
  • Issues relating to poverty and hunger.
  • Important aspects of governance, transparency and accountability, e-governance applications, models, successes, limitations, and potential; citizens charters, transparency & accountability and institutional and other measures.
  • Role of civil services in a democracy.
  • India and its neighborhood- relations.
  • Bilateral, regional and global groupings and agreements involving India and/or affecting
    India’s interests.
  • Effect of policies and politics of developed and developing countries on India’s interests,
    Indian diaspora.
  • Important International institutions, agencies and fora- their structure, mandate.

PAPER-IV- General Studies-III: Technology, Economic Development, Bio diversity, Environment, Security and Disaster Management 

  • Indian Economy and issues relating to planning, mobilization, of resources, growth, development and employment.
  • Inclusive growth and issues arising from it.
  • Government Budgeting.
  • Major crops-cropping patterns in various parts of the country, – different types of irrigation and irrigation systems storage, transport and marketing of agricultural produce and issues and related constraints; e-technology in the aid of farmers.
  • Issues related to direct and indirect farm subsidies and minimum support prices; Public
    Distribution System- objectives, functioning, limitations, revamping; issue of buffer stocks. and food security; Technology missions; economics of animal-rearing.
  • Food processing and related industries in India- scope’ and significance, location, upstream and downstream requirements, supply chain management.
  • Land reforms in India.
  • Effects of liberalization on the economy, changes in industrial policy and their effects on
    industrial growth.
  • Infrastructure: Energy, Ports, Roads, Airports, Railways etc.
  • Investment models.
  • Science and Technology- developments and their applications and effects in everyday life.
  • Achievements of Indians in science & technology; indigenization of technology and developing new technology.
  • Awareness in the fields of IT, Space, Computers, robotics, nano-technology, bio-technology and issues relating to intellectual property rights.
  • Conservation, environmental pollution and degradation, environmental impact assessment.
  • Disaster and disaster management.
  • Linkages between development and spread of extremism.
  • Role of external state and non-state actors in creating challenges to internal security.
  • Challenges to internal security through communication networks, role of media and social networking sites in internal security challenges, basics of cyber security; money-laundering and its prevention.
  • Security challenges and their management in border areas – linkages of organized crime with terrorism.
  • Various Security forces and agencies and their mandate.

PAPER-V- General Studies- IV: Ethics, Integrity and Aptitude

  • This paper will include questions to test the candidates’ attitude and approach to issues
    relating to integrity, probity in public life and his problem-solving approach to various issues and conflicts faced by him in dealing with society. Questions may utilise the case study approach to determine these aspects. The following broad areas will be covered :
  • Ethics and Human Interface: Essence, determinants and consequences of Ethics in-human actions; dimensions of ethics; ethics – in private and public relationships. Human Values – lessons from the lives and teachings of great leaders, reformers and administrators; the role of family society and educational institutions in inculcating values.
  • Attitude: content, structure, function; its influence and relation with thought and behaviour; moral and political attitudes; social influence and persuasion.
  • Aptitude and foundational values for Civil Service, integrity, impartiality and non-partisanship, objectivity, dedication to public service, empathy, tolerance and compassion towards the weaker sections.
  • Emotional intelligence-concepts, and their utilities and application in administration and
    governance.
  • Contributions of moral thinkers and philosophers from India and world.
  • Public/Civil service values and Ethics in Public administration: Status and problems; ethical concerns and dilemmas in government and private institutions; laws, rules, regulations and conscience as sources of ethical guidance; accountability and ethical governance; strengthening of ethical and moral values in governance; ethical issues in international relations and funding; corporate governance.
  • Probity in Governance: Concept of public service; Philosophical basis of governance and
    probity; Information sharing and transparency in government, Right to Information, Codes of Ethics, Codes of Conduct, Citizen’s Charters, Work culture, Quality of service delivery, Utilization of public funds, challenges of corruption.
  • Case Studies on above issues.

PAPER-VI & PAPER VII- Optional Subject Papers I & II

उम्मीदवार ऊपर दिए गए वैकल्पिक विषय की सूची में से कोई भी वैकल्पिक विषय चुन सकते हैं। वैकल्पिक विषयों के सिलेबस PDF को डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें।

Click here to download the Syllabus PDF For UPSC Mains Examination 2020

Looking for the free study material for UPSC IAS Exam 2020? Register Here

Watch Video: कैसे करें SSC CGL 2019 की Revision

BPSC AE परीक्षा पैटर्न

बिहार लोक सेवा आयोग (BPSC) ने असिस्टेंट इंजीनियर की भर्ती के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं। आयोग द्वारा परीक्षा की तारीख की घोषणा की जानी बाकी है। एग्जाम क्लियर करने के लिए कैंडिडेट्स को BPSC AE एग्जाम पैटर्न और सिलेबस की जानकारी होनी चाहिए। 5400 रुपये के लेवल 9 ग्रेड पे(grade pay) के तहत नियुक्त होने के लिए, आपको चयन प्रक्रिया के सभी चरणों को क्लियर करना होगा। परीक्षा में शामिल होने से पहले BPSC AE सिलेबस को अच्छी तरह से पढ़ाना चाहिए। BPSC AE भर्ती में आवेदन करने की अंतिम तिथि 5 मई है। BPSC AE पद के लिए आवेदन करने से पहले परीक्षा पैटर्न और सिलेबस के बारे में सभी डिटेल देखें।

पोस्ट  असिस्टेंट इंजीनियर
परीक्षा  BPSC असिस्टेंट भर्ती 2020
संगठन बिहार लोक सेवा आयोग (BPSC)
BPSC AE रिक्तियां  255
चयन प्रक्रिया  लिखित परीक्षा + इंटरव्यू
आधिकारिक वेबसाइट  bpsc.bih.nic.in

BPSC AE चयन प्रक्रिया:

BPSC AE की चयन प्रक्रिया में लिखित परीक्षा और साक्षात्कार है। 4 अनिवार्य पेपर और 2 वैकल्पिक पेपर में उम्मीदवारों को पास करना आवश्यक है।

BPSC AE परीक्षा पैटर्न :

परीक्षा ऑफलाइन आयोजित की जाएगी। उत्तरों को चिह्नित करने के लिए उम्मीदवारों को ओएमआर शीट दी जाएगी। लिखित परीक्षा कुल 600 अंकों की होगी, जिसमें से 400 अंक अनिवार्य पेपर के तथा 200 अंक वैकल्पिक पेपर के लिए आवंटित किए गए हैं।

अनिवार्य पेपर
टेस्ट का नाम  पेपर के प्रकार  अवधि  अंक 
सामान्य इंग्लिश वस्तुनिष्ठ(ऑब्जेक्टिव) 1 घंटा 100 अंक (क्वालीफाइंग)
सामान्य हिंदी वस्तुनिष्ठ(ऑब्जेक्टिव) 1 घंटा 100 अंक  (क्वालीफाइंग)
सामान्य अध्ययन वस्तुनिष्ठ(ऑब्जेक्टिव) 1 घंटा 100 अंक
सामान्य इंजीनियरिंग साइंस वस्तुनिष्ठ(ऑब्जेक्टिव) 1 घंटा 100 अंक
वैकल्पिक पेपर
सिविल/ मेकेनिकल/इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग– 1 वस्तुनिष्ठ(ऑब्जेक्टिव) 1 घंटा 100 अंक
सिविल/ मेकेनिकल/इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग – 2 वस्तुनिष्ठ(ऑब्जेक्टिव) 1 घंटा 100 अंक

 

BPSC AE सिलेबस: विषय वाइज टॉपिक 

BPSC AE के अनिवार्य प्रश्नपत्रों के सिलेबस का उल्लेख नीचे किया गया है। विषयों में सामान्य अंग्रेजी, सामान्य हिंदी, सामान्य अध्ययन, सामान्य इंजीनियरिंग साइंस, सिविल इंजीनियरिंग I और सिविल इंजीनियरिंग II शामिल हैं।

General English
(Qualifying)
  • Reading Comprehension
  • Fill in the Blanks
  • Cloze Test
  • Direct and Indirect Speech
  • Active and Passive Voice
  • Jumbled Sentence
  • Sentence Improvement
  • One Word Substitution
  • Error Detection
  • Sentence Rearrangement
सामान्य हिंदी 
(क्वालीफाइंग)
  • गद्यांश
  • रिक्त स्थान की पूर्ति करना
  • हिंदी व्याकरण
सामान्य अध्ययन
  • करंट अफेयर
  • स्टेटिक  GK
  • पुरस्कार और सम्मान
  • राजनीति
  • अर्थव्यवस्था
  • भौतिकी
  • रसायन विज्ञान
  • मुद्राएँ और राजधानियां
  • इतिहास
  • भूगोल
  • प्राणी विज्ञान
  • जीव विज्ञान
General Engineering Science
  • Engineering Economy and Management
  • Engineering Materials
  • Electrical Measuring Instrument
  • Energy Conversion
  • Mechanics of Solids
  • Engineering Mechanics
  • Environment Engineering
  • Methodology of Constructions
  • Transport Phenomenon
Civil Engineering I
  • Engineering Economy and Management
  • Engineering Materials and Constructions
  • Elementary Engineering
  • Energy Conversion
  • Engineering Mechanics
  • Surveying and Measurement
  • Mechanics of Solids
  • Transport Phenomenon
Civil Engineering II
  • Transportation Engineering
  • Hydrology & Water Resources
  • Hydraulic Engineering
  • Soil Mechanics & Foundations
  • Structural Analysis
  • Public Health Engineering
  • Structural Design

 

Click Here To Check Syllabus of BPSC Asst engineer Recruitment

BPSC AE न्यूनतम क्वालीफाइंग मार्क्स:

 BPSC AE भर्ती में सभी श्रेणियों के लिए न्यूनतम क्वालीफाइंग मार्क्स नीचे दिए गए हैं। यदि अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवार मौजूदा न्यूनतम मापदंडों को पास नहीं करते हैं, तो उनका चयन लिखित और/ या मौखिक प्रतियोगी परीक्षा में उनके प्रदर्शन के संदर्भ में प्राप्त रैंक के आधार पर किया जाएगा, भले ही अंक प्राप्त न हों।

कटेगरी न्यूनतम क्वालीफाइंग मार्क्स
जनरल(सामान्य) 40%
पिछड़ा वर्ग  36.5%
अत्यंत  पिछड़ा वर्ग (EBC) 34%
SC/ST/PwD/महिला 32%

 

Appearing For Bihar Public Service Commission Exam? Register Here For Free Study Material