Latest SSC jobs   »   गणित के नोट्स: यहाँ पायें गणित के सभी महत्वपूर्ण टॉपिक के नोट्स   »   Simple Interest (साधारण ब्याज) निकालने के...

Simple Interest Formula, Concept और Study Notes हिंदी में

साधारण ब्याज निकालने के सूत्र, कांसेप्ट, ट्रिक और इससे सम्बन्धी स्टडी नोट्स इस पोस्ट में दिए गए हैं। साधारण ब्याज वह विधि है, जिसके द्वारा आप ऋण पर ब्याज की गणना कर सकते हैं। यह मूलधन पर निकाला जाता है। साधारण ब्याज निकालने के लिए, आपको ब्याज की दर और समय अवधि के साथ मूलधन को गुणा करना होता है। इसकी गणना केवल मूलधन राशि पर की जाती है। परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों को हल करने के लिए छात्रों को साधारण ब्याज का फार्मूला पता होना चाहिए। हम आपको साधारण ब्याज पर पूरा नोट्स दे रहे हैं।

Simple Interest का फार्मूला अर्थात् साधारण ब्याज निकालने के सूत्र

  1. यदि एक निश्चित राशि, R% वार्षिक दर पर, T वर्षों में A रु. हो जाती हैं, तो मूलधन होगा:Simple Interest : यहाँ देखें साधारण ब्याज निकालने के सूत्र, कांसेप्ट, ट्रिक_50.1
  2. R% वार्षिक दर पर, A रु. के ऋण को T वर्षों में चुकता करने के लिए वार्षिक क़िस्त की राशि:

वार्षिक क़िस्त=Simple Interest : यहाँ देखें साधारण ब्याज निकालने के सूत्र, कांसेप्ट, ट्रिक_60.1

 

  1. यदि एक निश्चित राशि को n प्रकार के निवेशों में इस तरह से निवेश किया जाता है कि प्रत्येक निवेश पर समान राशि प्राप्त की जाती है जहां ब्याज दरें क्रमशः R₁, R₂, R₃ ……, R_n हैं, और समय अवधि T₁, T₂, T₃, ……, T_n हैं। ,तो निवेश की गयी राशि का अनुपात:Simple Interest : यहाँ देखें साधारण ब्याज निकालने के सूत्र, कांसेप्ट, ट्रिक_70.1
  2. यदि एक निश्चित राशि साधारण ब्याज पर T वर्षों में n गुना हो जाती है, तो वार्षिक ब्याज की दर:Simple Interest : यहाँ देखें साधारण ब्याज निकालने के सूत्र, कांसेप्ट, ट्रिक_80.1
  3. यदि एक धनराशि, R% वार्षिक साधारण ब्याज की दर पर T वर्षों में, n गुनी हो जाती है, तोSimple Interest : यहाँ देखें साधारण ब्याज निकालने के सूत्र, कांसेप्ट, ट्रिक_90.1
  4. यदि एक धनराशि T वर्षों में, स्वयं की n गुनी हो जाती है, तो इसके स्वयं की m गुनी होने में लगने वाला समय Simple Interest : यहाँ देखें साधारण ब्याज निकालने के सूत्र, कांसेप्ट, ट्रिक_100.1
  5. साधारण ब्याज में P, R और T के परिवर्तन को निम्नलिखित सूत्र द्वारा ज्ञात किया जाता है:Simple Interest : यहाँ देखें साधारण ब्याज निकालने के सूत्र, कांसेप्ट, ट्रिक_110.1
  6. यदि साधारण ब्याज पर उधार ली गयी एक धनराशि P, T₁ वर्षों में A₁ तथा T₂ वर्षों में A₂ हो जाती है, तोSimple Interest : यहाँ देखें साधारण ब्याज निकालने के सूत्र, कांसेप्ट, ट्रिक_120.1
  7. यदि उधार ली गयी एक निश्चित धनराशि P,T समय में R₁ % वार्षिक दर से A₁ और R₂ % वार्षिक दर से A₂ हो जाती हैं, तोSimple Interest : यहाँ देखें साधारण ब्याज निकालने के सूत्र, कांसेप्ट, ट्रिक_130.1
  8. यदि एक धनराशि P₁,साधारण ब्याज की R₁ % वार्षिक दर पर उधार ली जाती है और दूसरी धनराशि P₂, साधारण ब्याज की R₂ % वार्षिक दर पर उधार ली जाती है, तो कुल धनराशि पर ब्याज की दर होगी:Simple Interest : यहाँ देखें साधारण ब्याज निकालने के सूत्र, कांसेप्ट, ट्रिक_140.1

Click here to download the Adda247 app for free study material

Simple Interest Formula: FAQ

Q. साधारण ब्याज का क्या उपयोग है?

Ans: साधारण ब्याज का उपयोग उन मामलों में किया जाता है जहां वापस की जाने वाली राशि के लिए थोड़े समय की आवश्यकता होती है.

Q. साधारण ब्याज कितने प्रकार के होते हैं?

Ans: दो प्रकार के होते हैं अर्थात सामान्य साधारण ब्याज और सटीक साधारण ब्याज.

Q.होम लोन साधारण ब्याज हैं या चक्रवृद्धि ब्याज?

Ans: रोज़ाना ब्याज की गणना पर आधारित होम लोन को साधारण-ब्याज गिरवी कहा जाता है.

Q. कार ऋण साधारण ब्याज या चक्रवृद्धि ब्याज हैं?

Ans: ऑटो ऋण पर ब्याज की गणना साधारण ब्याज का उपयोग करके की जाती है,

Q. साधारण या चक्रवृद्धि ब्याज में क्या अंतर है?

Ans: साधारण ब्याज किसी ऋण या जमा की मूल राशि पर आधारित होता है और चक्रवृद्धि ब्याज मूल राशि और प्रत्येक अवधि में उस पर जमा होने वाले ब्याज पर आधारित होता है.

Q.आप साधारण ब्याज की गणना कैसे करते हैं?

Ans: साधारण ब्याज की गणना निम्न सूत्र का उपयोग करके की जाती है: SI = P × R × T, जहां P = मूलधन, R = ब्याज दर, और T = समय अवधि है.

Q. मैं मासिक साधारण ब्याज की गणना कैसे करूं?

Ans: मासिक साधारण ब्याज की गणना का सूत्र है (P × R × T) / (100 × 12).

Simple Interest : यहाँ देखें साधारण ब्याज निकालने के सूत्र, कांसेप्ट, ट्रिक_150.1

Sharing is caring!

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.
Was this page helpful?

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *