RRB NTPC का संशोधित नॉर्मलाइजेशन फॉर्मूला 2020-21: यहाँ देखें कैसे होगा RRB NTPC परीक्षा में नॉर्मलाइजेशन

RRB NTPC 2020 Revised Normalization Formula:

भारतीय रेलवे ने RRB NTPC के मार्क्स की गणना करने के लिए अलग-अलग शिफ्ट के अनुसार अलग-अलग वितरण से बचने के लिए इस नॉर्मलाइजेशन फॉर्मूला की शुरुआत की है। जैसा कि सभी जानते है कि इसकी परीक्षा अलग-अलग दिनों में होती है और परीक्षा का स्तर प्रत्येक दिन अलग-अलग होता है, इसलिए उसके अनुसार स्कोर की गणना करना मुश्किल होता है। इसलिए नॉर्मलाइजेशन फॉर्मूला से मूल्यांकन किया जाता है। RRB 2000 से इस नॉर्मलाइजेशन फॉर्मूला का उपयोग कर रहा हैं।

RRB NTPC की परीक्षा बहुत से अभ्यर्थी देने वाले हैं और समान वेटेज देने और तदनुसार स्कोर देने के लिए यह सबसे महत्वपूर्ण यह है कि RRB NTPC परीक्षा 2020 28 दिसंबर 2020 से मार्च 2021 तक होगी। भारतीय रेलवे (RRB) विभिन्न विभागों में लगभग 1.4 लाख रिक्तियों के लिए मेगा भर्ती अभियान 2020 का आयोजन कर रहा है। रेल मंत्रालय के अनुसार, देशभर के विभिन्न शहरों से 2.44 करोड़ से अधिक उम्मीदवार परीक्षा में शामिल होंगे।

चूंकि उम्मीदवारों की संख्या करोड़ों में है, इसलिए परीक्षा आयोजित करना चुनौतीपूर्ण है। इसलिए परीक्षा अलग-अलग दिनों में और उम्मीदवारों की सीमित क्षमता के साथ कई पाली में लेनी होती है। सभी चीज क्लियर करने के लिए, RRB NTPC नॉर्मलाइजेशन की प्रक्रिया करता है। SSC भी भर्ती प्रक्रिया के लिए नॉर्मलाइजेशन प्रक्रिया का उपयोग करता है ताकि पूरी परीक्षा के प्रत्येक शिफ्ट को समान वेटेज दिया जा सके। RRB NTPC परीक्षा के लिए RRB के संशोधित नॉर्मलाइजेशन फार्मूले के प्रावधान के बारे में अधिक जानकारी नीचे दी गयी हैं।

RRB NTPC Revised Normalization Formula 2020-21: Check Official Notice

Download ADDA247 APP To Attempt 3000+ Most Important Questions For RRB NTPC CBT 1 Examination

Know how to crack RRB NTPC Exam 2020

Looking for the free study material for RRB NTPC? Register Here

RRB NTPC परीक्षा 2020 में नॉर्मलाइजेशन फॉर्मूला क्या है?

नॉर्मलाइजेशन का मतलब अलग-अलग समय के विभिन्न मान को एक ही पैमाने पर मापना है। नॉर्मलाइजेशन प्रक्रिया एक वैज्ञानिक और सांख्यिकीय प्रक्रिया है। यह प्रक्रिया पूरी तरह से RRB परीक्षा के सभी पाली में उम्मीदवार के प्रदर्शन पर गणना किए गए सांख्यिकीय मापदंडों पर आधारित होता है। नॉर्मलाइजेशन प्रक्रिया पूरी तरह से उम्मीदवारों के प्रारंभिक स्कोर पर आधारित होता है। प्रारंभिक स्कोर का मूल्यांकन सही या गलत किए गए प्रश्नों की संख्या के आधार पर किया जाता है। ये वे अंक हैं जो परीक्षा के प्रत्येक सेक्शन में सही उत्तर देकर उम्मीदवारों द्वारा प्राप्त किए जाते हैं। गलत उत्तरों के लिए अंक काटने के बाद इन अंकों की गणना की जाती है।

नॉर्मलाइजेशन प्रक्रिया में उम्मीदवार के वास्तविक स्कोर के मूल्यांकन के लिए एक सूत्र का उपयोग होता है। हालांकि यह कमीशन पर निर्भर करता है कि वह कौन से फॉर्मूले का इस्तेमाल अंकों के मूल्यांकन के लिए करता है। यह सूत्र अलग-अलग संगठन के लिए अलग-अलग होते हैं। उम्मीदवारों को प्राप्त अंक और विभिन्न पाली में मान्य प्रश्नों की वास्तविक संख्या को इनपुट के रूप में लिया जाता है। इसके लिए कई सूत्र हैं जो इस प्रक्रिया के लिए उपयोग किए जा सकते हैं।

उदाहरण: यदि ऋणात्मक अंकन 1/3 है और उम्मीदवार ने 80 प्रश्नों का उत्तर दिया है, जिसमें से 12 गलत थे, तो प्रारंभिक स्कोर 80 – 12 – 12 * (1/3) = 64 होगा। यहाँ 64 प्रारंभिक अंक हैं।

Click Here For Best Study material for RRB NTPC Exam 2020

You May Also Like to Read : 

RRB NTPC Salary, Job Profile RRB NTPC Syllabus 2020  RRB NTPC Exam Pattern 
RRB NTPC Previous Year Papers RRB NTPC Exam Analysis RRB NTPC Latest Updates

RRB NTPC Test packRailway Extreme

×

Download success!

Thanks for downloading the guide. For similar guides, free study material, quizzes, videos and job alerts you can download the Adda247 app from play store.

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×
Login
OR

Forgot Password?

×
Sign Up
OR
Forgot Password
Enter the email address associated with your account, and we'll email you an OTP to verify it's you.


Reset Password
Please enter the OTP sent to
/6


×
CHANGE PASSWORD