Latest SSC jobs   »   राष्ट्रीय गणित दिवस: यहाँ देखें राष्ट्रीय...

राष्ट्रीय गणित दिवस: यहाँ देखें राष्ट्रीय गणित दिवस से सम्बन्धी सभी जानकारी

22 दिसंबर को महान गणितज्ञ, श्रीनिवास रामानुजन की जयंती और गणित के क्षेत्र में उनके योगदान को याद करने के लिए राष्ट्रीय गणित दिवस के रूप में मनाया जाता है। वह भारत में ब्रिटिश शासन के दौरान के महान भारतीय गणितज्ञ थे। उनके पास शुद्ध गणित में लगभग सारे अनौपचारिक प्रशिक्षण थे, उन्होंने गणितीय विश्लेषण(mathematical analysis), संख्या पद्धति(number theory), अनंत श्रृंखला( infinite series) और निरंतर भिन्न(continued fractions) में योगदान दिया था, और इन गणितीय समस्याओं के कई समाधान किए थे जो कि अकल्पनीय माना जाता था। रामानुजन बचपन के दिनों से ही प्रतिभाशाली थे। उन्होंने एक बार कहा था-

                          “An equation for me has no meaning unless it expresses a thought of God.”

भारतीय प्राचीन काल से ही गणित में योगदान दे रहे हैं। आर्यभट्ट ने जीरो का आविष्कार करके दुनिया की सहायता की, जो गणित को एक अलग ऊंचाई प्रदान किया। 22 दिसम्बर के इस दिन का मुख्य उद्देश्य अर्थव्यवस्था के विकास और समाज के कल्याण में गणित के महत्व के बारे में जागरूकता बढ़ाना है। भारत के पूर्व प्रधान मंत्री मनमोहन सिंह द्वारा 22 दिसंबर 2012 को राष्ट्रीय गणित दिवस घोषित किया गया था। यह छात्रों, शिक्षकों और गणित के लोगों के गणितीय ज्ञान को प्रोत्साहित करने और बढ़ाने के लिए शुरू किया गया है।

राष्ट्रीय गणित दिवस मनाने के पीछे का इतिहास

भारत सरकार ने महान गणितज्ञ श्रीनिवास रामानुजन की 125 वीं जयंती के अवसर पर मद्रास विश्वविद्यालय में 26 फरवरी 2012 को भारत के पूर्व प्रधान मंत्री मनमोहन सिंह द्वारा 22 दिसंबर को राष्ट्रीय गणित दिवस के रूप में घोषित किया गया। यह भारत के उत्साही गणितज्ञ को प्रोत्साहित करने के लिए विभिन्न स्कूलों, कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में देश भर में मनाया जाता है। 2017 में, आंध्र प्रदेश के चित्तूर में कुप्पम में रामानुजन मठ पार्क के खुलने से इस दिन का महत्व और बढ़ा है।

राष्ट्रीय गणित दिवस मनाने का महत्व

राष्ट्रीय गणित दिवस के पीछे मुख्य कारण अर्थव्यवस्था और समाज के विकास में गणित के महत्व के बारे में जागरूकता बढ़ाना है। छात्रों को प्रोत्साहित करने के लिए भारत के सभी राज्य अलग-अलग तरीकों से राष्ट्रीय गणित दिवस मनाते हैं। स्कूलों, कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में विभिन्न प्रतियोगिताओं और गणितीय क्विज़ आयोजित किए जाते हैं। पूरे भारत के छात्र इन कार्यक्रमों और कार्यशालाओं में भाग लेते हैं।

22 दिसंबर हमेशा महान गणितज्ञ श्रीनिवास रामानुजन के दिवस के रूप में याद किया जाएगा और श्रीनिवास रामानुजन के सम्मान में भारत सरकार द्वारा इस दिवस को घोषित किया गया है।

Sharing is caring!

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *