जानिए क्या है MGNREGA योजना का उद्देश्य, इसके लाभ और NRGEGA जॉब कार्ड संबंधी अन्य जानकारियां

महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (MGNREGA) भारत सरकार द्वारा शुरू की गई एक सामाजिक सुरक्षा योजना है, जो देश में ग्रामीण श्रमिकों को रोजगार और आजीविका प्रदान करने का प्रयास करती है। यह दुनिया की सबसे बड़ी सामाजिक सुरक्षा योजना है। मनरेगा का उद्देश्य वित्तीय वर्ष में कम से कम 100 दिन रोजगार प्रदान करना है। यह दुनिया की एकमात्र ऐसी योजना है जो रोजगार की गारंटी देती है और नौकरी न मिलने की स्थिति में लाभार्थी बेरोजगारी भत्ते का दावा कर सकते हैं। इस योजना को 2006 में लॉन्च किया गया था और उस समय इसे राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (NREGA) के नाम से जाना जाता था और बाद में इसका नाम बदलकर MGNREGA कर दिया गया था। आधिकारिक वेबसाइट: nrega.nic.in है, जहाँ आप nrega जॉब कार्ड डाउनलोड करने के बारे में और मनरेगा योजना की अन्य जानकारी विस्तार से जान सकते हैं।
सरकार ने रविवार (17 मई) को महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के तहत 40,000 करोड़ रुपये की अतिरिक्त राशि आवंटित की। ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के लिए धन आवंटित किया गया है ताकि घर लौटने वाले प्रवासी श्रमिकों को रोजगार प्रदान किया जा सके। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि MGNREGA के आवंटन में पहले के बजट में 61,000 करोड़ रुपये से अधिक और इससे ऊपर 40,000 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी की गई है। मनरेगा एक रोजगार योजना है जिसका उद्देश्य ग्रामीण भारत में प्रति वर्ष न्यूनतम 100 दिनों के भुगतान कार्य की गारंटी देकर सामाजिक सुरक्षा प्रदान करना है। यह मुख्य रूप से ग्राम पंचायतों द्वारा लागू किया जाता है और इसमें कोई ठेकेदार शामिल नहीं होता है।
List of Important Days in May

मनरेगा योजना : उद्देश्य

मनरेगा योजना के अनुसार, योजना के उद्देश्य निम्नलिखित हैं-

  • इसका उद्देश्य ग्रामीण श्रमिकों को हर साल न्यूनतम 100 दिनों की guaranteed non-skilled manual employment उपलब्ध कराना है, ताकि ग्रामीण परिवार अपना घर चला सकें।
  • नरेगा योजना का मुख्य उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि आबादी के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के पास आजीविका का स्रोत है।
  • आजीविका को मजबूत करना और गरीबों को संसाधन प्रदान करना।
  • नरेगा का उद्देश्य समाज के कमजोर वर्ग को भी सम्मिलित करना है।
  • साथ ही इस योजना का उद्देश्य पूरे भारत में पंचायती राज प्रतिष्ठानों को मजबूत करना है।

What is Plasma Therapy: A Possible Treatment For Coronavirus?

मनरेगा योजना : लक्ष्य

  1. मनरेगा का लक्ष्य ग्रामीण भारत में रहने वाले सबसे कमजोर लोगों के लिए guaranteeing wage employment opportunities प्रदान करना है।
  2. इसका उद्देश्य durable assets के निर्माण के लिए अग्रणी कार्यों में मजदूरी रोजगार के अवसरों की उत्पत्ति के माध्यम से ग्रामीण गरीबों की livelihood security को बढ़ाना है।
  3. मनरेगा का लक्ष्य ग्रामीण क्षेत्रों के प्राकृतिक संसाधन आधार को rejuvenate करना है।
  4. मनरेगा का उद्देश्य एक टिकाऊ और उत्पादक rural asset base तैयार करना है।
  5. विकेन्द्रीकृत, विभिन्न गरीबी और आजीविका पहलों के अभिसरण के माध्यम से सहभागिता योजना बनाना।
  6. इसका उद्देश्य पंचायती राज संस्थाओं को मजबूत करके grassroots स्तर पर लोकतंत्र को मजबूत करना है।

मनरेगा योजना: उपलब्धियां

2006 में इसकी स्थापना के बाद से, MGNREGA ने 100 दिनों के लिए guaranteed employment प्रदान करके भारत में गरीबी से जूझ लोगों की मदद की है। आइए इस योजना की अब तक की कुछ उपलब्धियों पर एक नज़र डालते हैं:

  • यह दुनिया की सबसे बड़ी सामाजिक कल्याण योजना है और इस पर पहले 10 वर्षों में 3.14 लाख करोड़ रुपये खर्च किए गए थे।
  • इस योजना ने भारत में गरीबी के स्तर को भारी मात्रा में कम कर दिया है। इसलिए, इसे विश्व विकास रिपोर्ट द्वारा ग्रामीण विकास का एक अद्भुत उदाहरण कहा जाता है
  • इसने ग्रामीण क्षेत्रों में कई महिलाओं को आजीविका कमाने के साथ-साथ सामाजिक सुरक्षा हासिल करने में मदद की है।
  • 18-30 की आयु वर्ग के बेरोजगार युवाओं को वर्ष में 100 दिन रोजगार मिला।
  • इसने ग्रामीण क्षेत्रों में कई महिलाओं को आजीविका कमाने के साथ-साथ सामाजिक सुरक्षा हासिल करने में मदद की है।
  • इस योजना ने डिमोनेटाइजेशन और GST (गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स) से प्रभावित लोगों को रोजगार देने में मदद की।
  • योजना में स्वच्छ पेयजल जैसी जरुरी सुविधाएं और सभी श्रमिकों को प्राथमिक चिकित्सा प्रदान की जाती है।
  • इसने अनुसूचित जातियों (SCs) और अनुसूचित जनजातियों (STs) के उत्थान में मदद की है।

MGNREGA योजना: जॉब कार्ड सूची

NREGA योजनाएँ वित्तीय वर्ष में सौ दिनों के लिए गरीब लोगों को श्रम कार्य प्रदान करती हैं। प्राधिकरण उन गरीब लोगों को मौका देता है जो अपनी आजीविका के लिए पैसा कमाना चाहते हैं। NREGA जॉब कार्ड उस व्यक्ति के काम करने के हर विवरण का रिकॉर्ड रखता है। जॉब कार्ड डाउनलोड करने के लिए नीचे दी गई तालिका से अपने राज्य के सामने के लिंक पर क्लिक करें। MGNREGA जॉब कार्ड की सूची दिखाई देगी।

S.no States Name Job Card List
1 Andhra Pradesh Click Here
2 Arunachal Pradesh Click Here
3 Assam Click Here
4 Bihar Click Here
5 Chhattisgarh Click Here
6 Goa Click Here
7 Gujarat Click Here
8 Haryana Click Here
9 Himachal Pradesh Click Here
10 Jharkhand Click Here
11 Karnataka Click Here
12 Kerala Click Here
13 Madhya Pradesh Click Here
14 Maharashtra Click Here
15 Manipur Click Here
16 Meghalaya Click Here
17 Mizoram Click Here
18 Nagaland Click Here
19 Odisha Click Here
20 Punjab Click Here
21 Rajasthan Click Here
22 Sikkim Click Here
23 Tamil Nadu Click Here
24 Telangana Click Here
25 Tripura Click Here
26 Uttar Pradesh Click Here
27 Uttarakhand Click Here
28 West Bengal Click Here
29 Andaman and Nicobar Islands Click Here
30 Dadra and Nagar Haveli Click Here
31 Daman & Diu Click Here
32 Lakshadweep Click Here
33 Puducherry Click Here
34 Chandigarh Click Here
35 Jammu and Kashmir Click Here

MGNREGA योजना: जॉब कार्ड सूची के लाभ

  • कोई भी व्यक्ति आसानी से नरेगा योजना के जॉब से संबंधित विवरण देख सकता है।
  • MGNREGA जॉब कार्ड उन छोटे लोगों को 100 दिन का रोजगार देता है जिनके पास आय का कोई स्रोत नहीं है।
  • राज्य के गरीब लोग इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।
  • अगर 100 दिन का रोजगार नहीं दिया जाता है, तो आवेदक को सरकार द्वारा भत्ते का भुगतान किया जाएगा।

जॉब कार्ड सूची कैसे डाउनलोड करें:

  1. अपने सिस्टम पर वेब ब्राउज़र खोलें, नरेगा की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं या ऊपर दी गई तालिका से अपने राज्य के सामने के लिंक पर क्लिक करें।
  2. सभी आवश्यक जानकारी दर्ज करें।
  3. सबमिट बटन पर क्लिक करें और प्रक्रिया को पूरा करें।
  4. आपको नए पेज पर भेज दिया जाएगा। जॉब कार्ड नंबर पर क्लिक करें।
  5. जॉब कार्ड आपकी स्क्रीन पर दिखाई देगा।
  6. वेबसाइट से कार्ड डाउनलोड करें।
  7. नरेगा जॉब कार्ड की हार्ड कॉपी प्राप्त करें और इसे सेव करें।

मनरेगा योजना: अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

Q. महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (MGNREGA) का उद्देश्य क्या है?
Ans. महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (MGNREGA) भारत सरकार द्वारा शुरू की गई एक सामाजिक सुरक्षा योजना है, जो देश में ग्रामीण श्रमिकों को रोजगार और आजीविका प्रदान करने का प्रयास करती है।
Q. इस अधिनियम के तहत रोजगार के लिए कौन आवेदन कर सकता है?

Ans. एक ग्रामीण परिवार के सभी वयस्क सदस्य जिनके पास एक नरेगा जॉब कार्ड है, उनको मनरेगा के तहत अकुशल मैनुअल कार्यकर्ता के रूप में रोजगार की मांग करने का अधिकार है।

Q. मनरेगा के तहत रोजगार का आवंटन कौन करता है?
Ans.ग्राम पंचायत या कार्यक्रम अधिकारी जिसे भी मनरेगा के तहत रोजगार देने का कार्य भार सौंपा गया है।
Q. NREGA जॉब कार्ड का लाभ किसे मिलेगा?

Ans. देश के अल्पसंख्यकों और गरीब नागरिकों को इस योजना का लाभ मिलेगा। जॉब कार्ड की मदद से लोग अपनी रोजमर्रा की जरूरत को पूरा कर सकते हैं।

Q. MGNREGA जॉब कार्ड के लाभ क्या हैं?

Ans. भारत के विभिन्न राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में रहने वाले सभी जरूरतमंद लोग इस योजना का लाभ उठा सकते हैं, MGNREGA योजना देश के रोजगार दर को बढ़ाती है और भारत के गरीब नागरिकों को बेहतर जीवन प्रदान करती है।

Q. महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम कब अधिसूचित किया गया था?
Ans.महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम 2 फरवरी, 2006 को 200 जिलों में शुरू किया गया था।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *