Latest SSC jobs   »   अंतरराष्ट्रीय साक्षरता दिवस   »   अंतरराष्ट्रीय साक्षरता दिवस

अंतरराष्ट्रीय साक्षरता दिवस आज : यहाँ देखें अंतरराष्ट्रीय साक्षरता दिवस का इतिहास, महत्त्व और इससे जुड़ी अन्य जानकारियां

International Literacy Day : अंतरराष्ट्रीय साक्षरता दिवस हर साल 8 सितंबर को विश्व स्तर पर मनाया जाता है। साक्षरता दिवस समारोह का उद्देश्य व्यक्तियों, समुदायों और समाजों के बीच साक्षरता के महत्व और अधिक साक्षर समाजों के लिए गहन प्रयासों की आवश्यकता को सामने लाना है। साक्षरता मानव जीवन का सबसे महत्वपूर्ण पहलू है और यह दिन हमें उसकी याद दिलाता है। मनुष्य के विकास और उसके जीवनयापन के लिए एक स्थायी वातावरण बनाने के लिए शिक्षा का काफी महत्व है और इस 21वीं सदी में तो उन्नयन के लिए साक्षरता बहुत ही जरूरी हो गया है।

एक बार जब आप पढ़ना सीख जायेंगे, तो आप हमेशा के लिए मुक्त हो जाएंगे – फ्रेडरिक डगलस

विश्व साक्षरता दिवस : इतिहास

यूनेस्को के जनरल कांफ्रेंस के 14वें सेशन में 26 अक्टूबर 1966 को यूनेस्को ने अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस घोषित किया। यह पहली बार 1967 में मनाया गया था। इसका उद्देश्य व्यक्तियों, समुदायों और समाजों के लिए साक्षरता के महत्व को सामने लाना है। इसके लिए कई देशों में समारोह आयोजित होते हैं।

इस अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस के अवसर पर, Adda247 की टीम भी डिजिटल भारत डिजिटल तैयारी सेलिब्रेट कर रहा है।

अंतरराष्ट्रीय साक्षरता दिवस आज : यहाँ देखें अंतरराष्ट्रीय साक्षरता दिवस का इतिहास, महत्त्व और इससे जुड़ी अन्य जानकारियां_50.1

विश्व साक्षरता दिवस : महत्व

साक्षरता आज मानव जीवन का सबसे महत्वपूर्ण पहलू बन गया है जो जीवित रहने के लिए उस वातावरण को विकसित करने और बनाने के लिए उसके लिए आवश्यक है। आज, वर्षों में हुई प्रगति के बावजूद, कम से कम 773 मिलियन युवाओं और वयस्कों में बुनियादी साक्षरता कौशल की कमी है। इस महामारी ने व्यापक पैमाने पर बच्चों, युवाओं और वयस्कों को शिक्षा से वंचित कर दिया है। इसने सार्थक साक्षरता के अवसरों तक पहुंच में पहले से मौजूद असमानताओं को भी और बढ़ा दिया है।

कोरोनोवायरस और लॉकडाउन की स्थिति के बाद भी, सभी शैक्षणिक संगठन सीखने की निरंतरता सुनिश्चित करने के लिए वैकल्पिक तरीके खोजने का प्रयास कर रहे थे, जिसमें दूरस्थ शिक्षा(distance learning) भी शामिल है। हालाँकि, साक्षरता के अवसरों तक पहुँच समान रूप से वितरित नहीं है।

सीखना(Learning) एक ऐसी प्रक्रिया है जिसे किसी भी स्तर पर, किसी भी उम्र में शुरू किया जा सकता है और इसके लिए दूरस्थ शिक्षा, ऑनलाइन क्लासेस जैसे बहुत सारे विकल्प भी मौजूद हैं। डिजिटलीकरण ने महामारी में छात्रों को उनके शिक्षकों से जोड़ने में बहुत मदद की है। जिससे वे घर पर रहकर अपनी पठन-पाठन को बनाए रखे।

विश्व साक्षरता दिवस 2021 : थीम

दुनिया लगभग दो वर्षों से COVID-19 वायरस के वैश्विक महामारी से पीड़ित है और इसके कारण शिक्षा और साक्षरता में बहुत बाधा आई है। इस वर्ष संयुक्त राष्ट्र वैज्ञानिक और सांस्कृतिक संगठन (यूनेस्को) ने “Literacy for a human-centered recovery: Narrowing the digital divide” थीम के साथ अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस 2021 मनाने की घोषणा की है।

यूनेस्को ने अपने ट्वीट में लिखा हैं: “डिजिटल कौशल जीवन रक्षक जानकारी तक पहुंचने का एक महत्वपूर्ण कारक बन गया है। लेकिन दुनिया की आधी से ज्यादा आबादी के पास कंप्यूटर आधारित गतिविधियों के लिए बुनियादी कौशल नहीं है। हमें सभी के लिए साक्षरता और डिजिटल कौशल का विस्तार करने के प्रयासों को तेज करना चाहिए!”

You may also like to read this:

Sharing is caring!

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *