जानिए, 20 लाख करोड़ में कितने जीरो?

20 लाख करोड़ में कितने जीरो?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 12 मई को राष्ट्र को संबोधित करते हुए 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज की घोषणा की। आत्मनिर्भर राष्ट्र के लिए दिया गया पैकेज, अर्थव्यवस्था को पुन: उभारने के लिए, महामारी से प्रभावित लोगों की मदद करेगा। इतनी बड़ी राशि की घोषणा के बाद, लोगो ने 20 लाख करोड़ में जीरो का पता लगाने के लिए Google की ओर रुख किया। जी हाँ! 20 लाख करोड़ में कितने जीरो, प्रधानमंत्री के भाषण के तुरंत बाद Google पर ट्रेंड करने लगा। इसके अलावा, आर्थिक राहत पैकेज के संबंध में लोगों द्वारा कई ट्वीट और पोस्ट डाले गए। यह भारतीयों के लिए दिलचस्पी का विषय बन गया कि आने वाले संकट का मुकाबला करने में पैकेज उनकी किस तरह से सहायता करेगा।

Lockdown 4.0 Guidelines To Be Followed After 17th May

तो, अगर आप भी 20 लाख करोड़ में जीरो के बारे में सोच रहे हैं, तो यहां आपको इसका जवाब मिलेगा।

  • 3 जीरो – 1,000 – एक हजार 
  • 4 जीरो -10,000 – दस हजार
  • 5 जीरो -100,000 – 1 लाख / 100 हजार 
  • 6 जीरो – 1,000,000 – 10 लाख / 1 मिलियन
  • 7 जीरो – 10,000,000 – 1 करोड़ / 10 मिलियन
  • 8 जीरो – 100,000,000 – 10 करोड़/ 100 मिलियन
  • 9 जीरो – 1,000,000,000 – 100 करोड़/ 1 बिलियन
  • 10 जीरो – 10,000,000,000 – 1,000 करोड़/ 10 बिलियन
  • 11 जीरो – 100,000,000,000 – 10,000 करोड़/ 100 बिलियन
  • 12 जीरो – 1,000,000,000,000 – 1 लाख करोड़/ 1 ट्रिलियन
  • 13 जीरो – 10,000,000,000,000 – 10 लाख करोड़/ 10 ट्रिलियन

इस प्रकार, 20लाख करोड़ में 13 जीरो(20लाख करोड़= 10 लाख करोड़ x 2) होते है। वाह! यह वास्तव में दुनिया भर में सभी के लिए एक बड़ी राशि है।

What is PPE kit? Know all about Personal Protective Equipment

इसके अलावा, भारत के वित्त मंत्री, निर्मला सीतारम द्वारा विभिन्न क्षेत्रों को आवंटित धन में यह इंटरेस्ट बड़ा होगा। बुधवार को, उसने लॉकडाउन के कारण होने वाले नुकसान को कम करने के लिए किए गए उपायों की जानकारी दी। उन्होंने MSME, EPF कॉन्ट्रिब्यूशन, NBFC, हाउसिंग फाइनेंस, डिस्कॉम, ठेकेदारों आदि से निपटने के लिए 16 उपायों की घोषणा की। अब देखते हैं कि 20 लाख करोड़ के वितरण देश के आर्थिक संकट से निपटने वाले 1.3 बिलियन लोगों के जीवन को कैसे प्रभावित करता है।

Atmanirbhar Bharat Abhiyan: Press Conference By Finance Minister Nirmala Sitharaman

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *