Latest SSC jobs   »   Heritage City Development and Augmentation Yojna...

Heritage City Development and Augmentation Yojna : HRIDAY (विरासत शहर विकास एवं संवर्धन योजना)

HRIDAY: विरासत शहर विकास एवं संवर्धन योजना

HRIDAY योजना भारत में कुछ विरासतों के संयुक्त, समावेशी और सतत विकास की दिशा में अद्भुत संभावनाएं प्रदान करती है। HRIDAY योजना आजीविका, कौशल, स्वच्छता, सुरक्षा, पहुंच और सेवा वितरण पर बल देने के साथ एक समावेशी और एकीकृत तरीके से शहरी नियोजन/आर्थिक वृद्धि और विरासत रखरखाव को एक साथ लाकर शहरी विकास के लिए भारत की कार्यप्रणाली में एक मानक परिवर्तन की पेशकश करती है।

Heritage City Development and Augmentation Yojna : HRIDAY (विरासत शहर विकास एवं संवर्धन योजना)_50.1

शहर का विरासत विकास कुछ स्मारकों के विकास और संरक्षण के बारे में नहीं है, बल्कि संपूर्ण शहर का विकास, इसके नियोजन, इसकी बुनियादी सेवाएं, इसके समुदायों के लिए जीवन की गुणवत्ता, इसकी अर्थव्यवस्था और आजीविका, स्वच्छता, सुरक्षा, इसकी आत्मा के पुनरोद्धार और इसके चरित्र के स्पष्ट प्रदर्शन से संबंधित है।

 

HRIDAY योजना: मुख्य विशेषताएं

  • शहरी विकास मंत्रालय, भारत सरकार ने 21 जनवरी, 2015 को राष्ट्रीय विरासत शहर विकास और संवर्धन योजना (HRIDAY) की शुरुआत की।
  • शहरी विकास मंत्रालय ने विरासत शहरों के संपूर्ण विकास पर ध्यान देने के साथ विरासत शहर विकास और संवर्धन योजना (HRIDAY) प्रारंभ की।
  • HRIDAY योजना का उद्देश्य सौंदर्य की दृष्टि से आकर्षक, सुलभ, सूचनात्मक और सुरक्षित पर्यावरण को प्रोत्साहित करते हुए शहर के अद्वितीय चरित्र को प्रतिबिंबित करने के लिए विरासत शहर की आत्मा को संरक्षित और पुनर्जीवित करना है।
  • HRIDAY योजना एक केंद्रीय क्षेत्र की योजना है जिसमें 100 प्रतिशत वित्तपोषण केंद्र सरकार से आता है।
  • शहरों को HRIDAY योजना के तहत सहायता प्राप्त करने के लिए शहर के लिए विरासत प्रबंधन योजना तैयार करने और पहचान की गई परियोजनाओं के लिए DPRs विकसित करने की आवश्यकता होगी।
  • राष्ट्रीय शहरी कार्य संस्थान (NIUA) को HRIDAY योजना के लिए राष्ट्रीय परियोजना प्रबंधन इकाई के रूप में नामित किया गया है और यह मिशन निदेशालय के लिए एक सचिवालय के रूप में कार्य करेगा।
  • HRIDAY योजना 12 विरासत शहरों के विकास पर ध्यान केंद्रित करेगी अर्थात्:
  1. अजमेर
  2. अमरावती
  3. अमृतसर
  4. बादामी
  5. द्वारका
  6. गया
  7. कांचीपुरम
  8. मथुरा
  9. पुरी
  10. वाराणसी
  11. वेलंकन्नी
  12. वारंगल
  • HRIDAY योजना विरासत शहर की आत्मा को पुनर्जीवित करने और इसके पुनरोद्धार के लिए सामान्यत: भौतिक अवसंरचना, संस्थागत अवसंरचना, आर्थिक अवसंरचना और सामाजिक अवसंरचना जैसे चार विषय क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करेगी।

 

HRIDAY योजना: मुख्य उद्देश्य

  1. विरासत संवेदनशील अवसंरचना का नियोजन, विकास और कार्यान्वयन
  2. ऐतिहासिक शहर के मुख्य क्षेत्रों में सेवा वितरण और अवसंरचना व्यवस्था।
  3. विरासत को संरक्षित और पुनर्जीवित करना जिससे पर्यटक शहर के अद्वितीय चरित्र से प्रत्यक्ष रूप से जुड़ सकें।
  4. प्राकृतिक, सांस्कृतिक, जीवंत शहरों की विरासत परिसंपत्ति की सूची का विकास और दस्तावेजीकरण तथा विरासत को शहरी नियोजन, वृद्धि तथा सेवा व्यवस्था और वितरण के आधार के रूप में निर्मित करना।
  5. सार्वजनिक सुविधाओं, शौचालयों, पानी के नल, स्ट्रीट लाइट जैसी स्वच्छता सेवाओं पर ध्यान केंद्रित करते हुए पर्यटन सुविधाओं/सहायताओं में सुधार के लिए नवीनतम तकनीकों के उपयोग के साथ बुनियादी सेवाओं के वितरण का कार्यान्वयन और विस्तार।

Heritage City Development and Augmentation Yojna : HRIDAY (विरासत शहर विकास एवं संवर्धन योजना)_60.1 

HRIDAY योजना: FAQs

Q. HRIDAY का पूर्ण रूप क्या है?

विरासत शहर विकास और संवर्धन योजना।

Q. HRIDAY योजना कब प्रारंभ की गई थी?

21 जनवरी, 2015

Q. HRIDAY योजना किसने प्रारंभ की थी?

शहरी विकास मंत्रालय, भारत सरकार

Heritage City Development and Augmentation Yojna : HRIDAY (विरासत शहर विकास एवं संवर्धन योजना)_70.1

UP Police प्रधान परिचालक | सहायक परिचालक 2022 Online Test Series

 

Sharing is caring!

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *