Latest SSC jobs   »   स्वास्थ्य मंत्रालय ने परीक्षा आयोजन संबंधी...

स्वास्थ्य मंत्रालय ने परीक्षा आयोजन संबंधी जारी किए संशोधित दिशानिर्देश, जानिए क्या है इस दिशानिर्देश की मुख्य बातें

स्वास्थ्य मंत्रालय का परीक्षा आयोजन संबंधी जारी संशोधित दिशानिर्देश

स्वास्थ्य मंत्रालय ने परीक्षा में सावधानी के उपायों पर आधारित संशोधित दिशानिर्देश जारी किए हैं जिससे कोविड-19 को फैलने से रोका जा सके। इस महीने JEE Mains और NEET जैसी प्रमुख प्रतियोगी परीक्षाओं होने के कारण, यह उम्मीदवारों के बीच चर्चा का विषय बन गया है। कोविड-19 मामलों के बढ़ने के साथ, कई उम्मीदवारों और उनके माता-पिता ने बच्चों के संक्रमित होने के डर से परीक्षा स्थगित करने की मांग की है। इसलिए, सरकार ने अब संशोधित SOP जारी किया है जिसका पालन छात्रों के साथ-साथ परीक्षा केंद्रों पर करना है। छात्रों की सुरक्षा के लिए परीक्षा हॉल में उचित एहतियाती कदम उठाए जाएंगे। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी किए गए दिशानिर्देशों की मुख्य बातें निम्नलिखित है।

              Click here to check complete guidelines by health ministry PDF

1. सुरक्षा के सामान्य उपाय:

  • जहां तक संभव हो कम से कम 6 फीट की शारीरिक दूरी का पालन करना चाहिए।
  • परीक्षा के लिए आते समय फेस कवर/मास्क का प्रयोग करें।
  • जहाँ भी संभव हो, कम से कम साबुन से हाथ धोएं (कम से कम 40-60 सेकंड तक धोएं) या अल्कोहल वाले हैंड सैनिटाइज़र से हाथों को साफ रखें(कम से कम 20 सेकंड तक हाथ में मिलाएं)।
  • श्वसन संबंधी नियमों का सख्ती से पालन किया जाए। इसमें खांसने/ छींकने के दौरान टिसू/ रूमाल का प्रयोग या केहुनी को मोड़ना और उपयोग किए टिसू को डिस्पोज़ करना आदि शामिल है।
  • थूकने पर सख्त मनाही रहेगी।
  • फोन में आरोग्य सेतु App इंस्टाल किया हुआ होना चाहिए और इसका उपयोग आवश्यक है।

परिवहन सुविधा संबंधी दिशानिर्देश:

यदि परीक्षा प्राधिकरण या संस्थान छात्रों को परिवहन सुविधा प्रदान करने की योजना बना रहा है, तो नियमित अंतराल पर उम्मीदवारों के परिवहन में शामिल वाहन को सेनेटाईज किया जाना चाहिए।

2. सभी विश्वविद्यालय/शैक्षणिक संस्थान या परीक्षा आयोजित करने वाले प्राधिकरण के लिए दिशानिर्देश:

  • केवल उन्हीं परीक्षा केंद्रों पर, जो कन्टेनमेंट ज़ोन के बाहर हैं, उनपर ही परीक्षा कराने की अनुमति होगी।
  • किसी भी परीक्षा केंद्र पर किसी भी दिन अधिक भीड़ से बचने के लिए परीक्षा कार्यक्रम को योजनाबद्ध तरीके से निर्धारित किया जाना चाहिए।
  • परीक्षा में शारीरिक दूरी सुनिश्चित करने के लिए परीक्षार्थी के बैठने की उचित व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए संस्थानों में पर्याप्त कमरे होने चाहिए।
  • व्यक्तिगत सुरक्षा सामग्री जैसे फेस कवर/मास्क, हैंड सैनिटाइज़र, साबुन, सोडियम हाइपोक्लोराइट घोल आदि की उचित व्यवस्था उपलब्ध कराई जानी चाहिए।
  • छात्रों को परीक्षा से संबंधित दस्तावेजों (एडमिट कार्ड, आईडी कार्ड आदि) के साथ-साथ फेस मास्क, पानी की बोतल, हैंड सैनिटाइजर आदि भी ले जाने की अनुमति होगी।
  • प्रवेश में अनिवार्य रूप से हाथ की स्वच्छता और थर्मल स्क्रीनिंग प्रावधान होना चाहिए। यदि कोई भी परीक्षा अधिकारी/परीक्षार्थी स्व-घोषणा के मानदंडों को पूरा करने में विफल रहता है, तो उन्हें प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी।
  • सभी कर्मचारियों और छात्रों को प्रवेश की अनुमति केवल तभी दी जानी चाहिए जब वे फेस कवर/मास्क का उपयोग कर रहे हों। परीक्षा केंद्र के अंदर हर समय फेस कवर/मास्क हर हाल में पहनना चाहिए।
  • ऑनलाइन या कंप्यूटर आधारित परीक्षा के लिए, परीक्षा से पहले और बाद में अल्कोहल वाइप्स का उपयोग करके सिस्टम को कीटाणुरहित किया जाएगा।
  • व्यक्तिगत सामान या स्टेशनरी एक दूसरे के साथ साझा करने की अनुमति नहीं होनी चाहिए।
  • पेयजल के लिए पर्याप्त व्यवस्था(डिस्पोजेबल कप/ग्लास के साथ) परीक्षा हॉल में की जानी चाहिए।

    उम्मीदवारों के प्रवेश और निकास के प्रबंधन संबंधी दिशानिर्देश:

    • परीक्षा केंद्र में प्रवेश के लिए हाथ स्वच्छता और थर्मल स्क्रीनिंग का प्रावधान अनिवार्य किया गया हैं।
    • केवल उन छात्रों और कर्मचारियों-सदस्यों को परीक्षा केंद्र के अंदर प्रवेश की अनुमति दी जाएगी जो एक स्व-घोषणा(self-declaration) प्रस्तुत करते है।
    • यदि किसी परीक्षार्थी में परीक्षा केंद्र में कोई लक्षण पाया जाता है, तो निकटतम स्वास्थ्य केंद्र को सूचित किया जाना चाहिए और उन्हें परीक्षा में सहयोग करने के लिए आवश्यक प्रावधान किए जाने चाहिए।
    • केवल फेस-मास्क या फेस कवर के साथ ही छात्रों और स्टाफ-सदस्यों को परीक्षा केंद्र में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी।
    • छात्रों और कर्मचारियों को परीक्षा केंद्र में मौजूद पूरी अवधि के दौरान फेस-मास्क पहननी होगी।
    • परीक्षा केंद्र में प्रवेश और निकास पर भीड़ प्रबंधन की व्यवस्था होनी चाहिए।
    • परिसर में शारीरिक दूरी सुनिश्चित करने के लिए मार्किंग बनाया जाना चाहिए।
    • परीक्षा केंद्र में बैग/किताबें/मोबाइल ले जाने की अनुमति नहीं है।
    • थर्मल स्क्रीनिंग के बाद ही परीक्षार्थियों की फ्रिस्किंग(Frisking) की जाएगी। फ्रिस्किंग(Frisking) में शामिल कर्मी, दस्ताने के अलावा ट्रिपल लेयर मेडिकल मास्क पहनेंगे।

Sharing is caring!

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *